इस छोटे से देश ने दिखाई चीन को आंख, कहा- तुम्हारे गुलाम नहीं !!

दक्षिण अफ्रीका के देश बोत्सवाना के राष्ट्रपति इयान खामा ने चीन की धौंस का मुंह तोड़ जवाब देते हुए उसे उसकी औकात दिखा दी है। चीन से कूटनीतिक वार्ता के दौरान बोत्सवाना के राष्ट्रपति ने सख्त लहजे में कहा कि वो चीन की धमिकयों से डरते नहीं हैं और बोत्सवाना चीन का उपनिवेश नहीं है। बोत्सवाना के राष्ट्रपति ने ये बात तब कही जब चीन एक राजनीतिक मुद्दे पर बोत्सवाना को राजनीतिक और कूटनीतिक तौर पर बुरा अंजाम भुगतने की चेतावनी दे रहा था। बोत्सवाना के राष्ट्रीय अखबार बोत्सवाना गार्जियन के अनुसार दलाई लामा 17 से 19 अगस्त के बीच बोत्सवाना की राजधानी गेबोरोनी में आध्यमिकता, विज्ञान और मानवता पर वक्तव्य देने के लिए दौरा करने वाले थे। बोत्सवाना गार्जियन के अनुसार चीन ने न केवल दलाई लामा के इस दौरे का विरोध किया बल्कि बोत्सवाना को उनका स्वागत न करने की भी चेतावनी भी दी। चीन द्वारा अपने देश के निजी मसले में दखलंदाजी से बोत्सवाना के राष्ट्रपति इयान खामा बुरी तरह बौखला गए और उन्होंने चीन को खरा सा जवाब देते हुए कहा कि हम तुम्हारे गुलाम नहीं हैं। राष्ट्रपति इयान खामा ने चीन की धमकी को नजरअंदाज करते हुए दलाई लामा से मुलाकात का निर्णय लिया। लेकिन स्वास्थ्य कारणों से दलाई लामा ने ही अपना बोत्सवाना दौरा फिलहाल रद्द कर दिया। इयान खामा ने अखबार बोत्सवाना गार्जियन को दिए साक्षात्कार में कहा कि चीन बोत्सवाना से अपने राजदूत वापस बुलाने की धमकी दे रहा था। उन्होंने बताया कि चीन ने धमकी दी थी कि यदि बोत्सवाना दलाई लामा का स्वागत करता है तो इससे दोनों देशों के आपसी संबंधों में दरार पैदा हो जाएगी और चीन दूसरे अफ्रीकी देशों की मदद से बोत्सवाना को अलग-थलग कर देगा।’ लेकिन इसके बावजूद बोत्सवाना ने चीन के सामने घुटने नहीं टेके। उन्होंने दलाई लामा के जल्द ही स्वस्थ होने की उम्मीद करते हुए कहा कि एक बार स्वस्थ होने के बाद खुले दिल से उनका बोत्सवाना में स्वागत है, वे यहां आएं और घूमें। !!

Leave a comment