BRICS सम्‍मेलन में पीएम मोदी बोले, हिन्‍दुस्‍तान के युवा हमारे देश की ताकत !!

श्‍यामन : प्रधानमंत्री मोदी 9वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्‍सा लेने के लिए रविवार को चीन के दक्षिणपूर्वी शहर श्‍यामन पहुंच गए. तीन दिन तक चलने वाले शिखर सम्‍मेलन के पहले दिन प्रधानमंत्री मोदी की मुलाकात ब्रिक्‍स देशों के नेताओं से हुई. सुबह करीब 8 बजे इंटरनेशनल कांफ्रेंस सेंटर पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी का स्‍वागत चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने किया. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच खासी गर्मजोशी देखने को मिली. शी जिनपिंग ने सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, ब्राजील के राष्ट्रपति माइकल टेमर और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकोब जूमा का भी औपचारिक स्वागत किया. ब्रिक्‍स सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ब्रिक्‍स के नए बैंक से सभी सदस्‍यों देशों को बड़ा फायदा है. उन्‍होंने कहा कि शांति और विकास के लिए एकदूसरे देश का सहयोग जरूरी है. उन्‍होंने यह भी कहा कि हिन्‍दुस्‍तान के युवा हमारे देश की बड़ी ताकत है. गरीबी से लड़ने के साथ भारत बड़े स्‍तर पर सफाई अभियान चला रहा है. इससे पहले ब्रिक्‍स सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि बदलते हालात के बीच ब्रिक्‍स (ब्राजील-रूस-भारत-चीन-दक्षिण अफ्रीका) की अहम भूमिका है. उन्‍होंने कहा कि ब्रिक्‍स देशों के लिए चीन की कई अहम योजनाएं हैं. विकास के लिए एक-दूसरे का सहयोग जरूरी है. उन्‍होंने कहा कि आर्थिक सहयोग पर व्‍यावहारिक समाधान की जरूरत है. विकास के लिए हम पांचों देश एक मंच पर हैं. सम्‍मेलन के पहले दिन प्रधानमंत्री ने सुबह 8.40 बजे ब्रिक्‍स देशों के नेताओं से मुलाकात की. इसके बाद भारतीय समयानुसार 9.45 बजे उनकी मुलाकात रूस के राष्‍ट्रपति से हुई. दोपहर 1.55 बजे प्रधानमंत्री मोदी और ब्राजील के राष्‍ट्रपति माइकल टेमर के बीच औपचारिक मुलाकात होगी. शाम छह बजे सांस्‍कृतिक कार्यक्रम में हिस्‍सा लेंगे. उम्‍मीद की जा रही है कि पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग मंगलवार को द्विपक्षीय बैठक करेंगे. डोकलाम सीमा विवाद के समाधान के बाद मोदी व जिनपिंग की मुलाकात पर सबकी नजर रहेगी. इस विवाद के कारण दोनों देशों की सेनाएं दो महीने तक आमने-सामने रहीं. अधिकारियों के मुताबिक, ब्राजील-रूस-भारत-चीन-दक्षिण अफ्रीका (ब्रिक्स) के नौवें शिखर सम्मेलन के इतर पांच सितंबर को दोनों नेता बैठक कर सकते हैं. चीन के सहायक विदेश मंत्री कोंग शुआनु व चीन के भारत में राजदूत लुओ झाओहुई ने मोदी का स्वागत किया. मोदी शाम के समय जब शियामेन पहुंचे तो उस समय यहां बारिश हो रही थी. इससे पहले मोदी विंधम ग्रैंड होटल पहुंचे, जहां 50 स्थानीय लोग उनके स्वागत के लिए मौजूद थे. इस साल दोनों नेताओं के बीच यह दूसरी द्विपक्षीय बैठक होगी. पिछली बैठक शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन के दौरान हुई थी. दोनों नेताओं की अनौपचारिक बैठक डोकलाम संकट के बीच जुलाई में जर्मनी में जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान भी हुई थी. इस शिखर सम्मेलन में दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रपति जैकब जुमा भी भाग ले रहे हैं. भारतीय नेता ब्रिक्स नेताओं के साथ व्यापार परिषद की बैठक को संबोधित करेंगे. वह मंगलवार सुबह एक कार्यक्रम ‘इमर्जिंग मार्केट्स एंड डेवलपिंग कंट्रीज’ के संवाद में भाग लेंगे. ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के बाद मोदी म्यांमार जाएंगे. !!

Leave a comment