कश्‍मीर में नई चुनौती, खतरनाक हथियार लिए खुलेआम घूम रहे हिज्बुल आतंकी !!

कश्मीर मे आतंकवादी घटनाओं को रोकने के लिए मोदी सरकार बड़े-बड़े दावे कर रही है. लेकिन सरकार घाटी में आतंकवादियों पर नकेल कसने में सफल नहीं हो पा रही है. कुछ आतंकवादियों को कश्मीर में एक बार फिर से एलएमजी जैसे हथियारों के साथ देखा गया है. बता दें कि इस तरह के खतरनाक हथियारों का प्रयोग ये आतंकी 1990 को दशक में करते थे. आतंकी एके 47 और एके 56 जैसे हथियारों का प्रयोग रहे हैं. लेकिन रॉकेट लांचर, यूबीजीएल(अंडर बैरल ग्रेनेड लांचर) और एलएमजी (लाइट मशीन गन) का फिर से आतंकियों के हाथ में होना चिंता का विषय है. खुफिया सूत्रों की जानकारी से हिज्ब के इन आतंकियों के दल को पुंछ के पीर पंजाल इलाके के पार पीर की गली में 28 अगस्त से 30 अगस्त के बीच देखा गया था. ये आतंकी सीमा पार समानी इलाके में कई दिन तक रहे और फिर अगस्त में भारी फायरिंग के बीच ये घुसपैठ करने में कामयाब हो गए. अनुमान लगाया जा रहा है कि इस ग्रुप में चार से पांच आतंकी हैं जो बक्करवालों( गुज्जरों) के डेरे के साथ यहां तक पहुंचे हैं. इनका कमांडर अबदुल्ला उर्फ मीर उर्फ सरफराज़ है जो कि पाकिस्तान के बहावलपुर का रहने वाला है. सरफराज़ को कई बार सैय्यद सलाहुद्दीन के साथ देखा गया है. इऩ आतंकवादियों की ट्रेनिंग पाकिस्तान के मनशेरा में हुई है.12 अगस्त को सैय्यद सलाहुद्दीन ने पीओके के दौरे के समय इन आतंकियों से कैंप मे मुलाकात कर इनको विदा किया था. !!

Leave a comment