जिंदगी की जंग हार गया मुकेश

टीएनए रिपोर्टर लखनऊ– राजधानी के जानकीपुरम थानाक्षेत्र मे बीते 8 दिन पूर्व जिस दवा व्यवसायी को गोली मारी गयी थी वह गुरुवार के दिन ट्रामा सेंटर मे दम तोड़ दिया । हालांकि 8 दिन बाद भी पुलिस हमलवारों का कोई सुराग नहीं लगा पायी है । इस घटना से व्यापारियों मे रोष व्याप्त है जिसको मद्देनजर रखते हुये क्राइम ब्रांच से मामले की जांच कराई जा रही है । मौत की ख़बर सुनते ही व्यापारियों मे अपनी अपनी दुकान बंद कर प्रदर्शन करने लगे , परंतु एसपीटीजी की सूझ बुझ से उग्र प्रदर्शन शांत हो सका ।

क्या था पूरा मामला ??

गौरतलब है की बीते 27 जुलाई की रात केंद्रीय विहार कॉलोनी जानकीपुरम विस्तार निवासी दवा व्यवसायी उमेश मिश्रा को अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दिया था । मुकेश मिश्रा को उस वक़्त गोली मारी गयी जब मुकेश मिश्रा अपना मेडिकल स्टोर बंद कर अल्टो कार से घर जा रहे थे। घर से चंद कदमों की दूरी पर पहले से घात लगाए बैठे हमलावरों ने उमेश को रोकने की कोशिश की। लेकिन उमेश ने कार नहीं रोकी तो बदमाशों ने उन पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दी थी। एक गोली उमेश के सिर में जा लगी जिससे कार का  संतुलन  बिगड़  गया व मुकेश की कार डिवाइडर से टकरा गयी । स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी और उन्हें ट्रामा सेंंटर में भर्ती कराया गया था। 

सीसीटीवी की धुंधली तस्वीर नहीं दे पा रही पुलिस का साथ

घटना के बाद पुलिस  घटना स्थल के आसपास व उमेश के मेडिकल स्टोर के करीब लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली थी। एक फुटेज में कुछ संदिग्ध व्यक्ति भी दिखे थे। लेकिन सीसीटीवी मे संदिग्धों की तस्वीर साफ नहीं है जिसके वजह से पुलिस को इससे कोई खास मदद नहीं मिल पायी । हालांकि पुलिस अतिशीघ्र मामले का खुलासा करने का दावा कर रही है ।

2 घंटे तक चला व्यापारियों का प्रदर्शन , एसपीटीजी की सूझबुझ से समाप्त हुआ प्रदर्शन

मुकेश की मौत ख़बर आते ही क्षेत्र के सभी व्यापारी अपनी अपनी दुकान बंद कर जानकीपुरम थाने पर एकत्रित होने लगे । व्यापारी भारतीय जन उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष सौरभ तिवारी के नेतृत्व में थाने पर प्रदर्शन कर रहे थे । तभी एसपीटीजी हरेन्द्र कुमार ने सूझबुझ से काम लिया व अपने साथ लखनऊ व्यापार मंडल महामंत्री अमर नाथ मिश्रा को लेकर मौके पर पहुंचे । एसपीटीजी ने मामले की जल्द खुलासे का आश्वासन दिया अमर नाथ मिश्रा मे व्यापारियों को समझाया व प्रदर्शन को शांत कराया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *