लीक हुआ PNB के 10 हजार डेबिट और क्रेडिट कार्डधारकों का डेटाः रिपोर्ट !!

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक में 114000 करोड़ के घोटाले के बाद एक नया खुलासा हुआ है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बैंक के करीब 10000 क्रेडिट और डेबिट कार्ड्स का डेटा लीक हुआ है। यह दावा हॉन्गकॉन्ग के एक अखबार ने किया है। हॉन्गकॉन्ग के अखबार एशिया टाइम्स के मुताबिक एक्सपर्ट ने यह आशंका जताई है कि ग्राहकों की बेहदसंवेदनशील जानकारी बीते तीन महीने से एक वेबसाइट पर खरीदी और बेची जा रही थी। आपको बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक ने यह मामला ऐसे समय में सामने आया है जब बैंक में बीते हफ्ते ही देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले का खुलासा हुआ है।
रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इन्फॉर्मेशन सिक्योरिटी कंपनी क्लाउडसेक की ओर से बुधवार को बैंक को इसकी जानकारी दी गई। क्लाउडसेक, सिंगापुर में रजिस्टर्ड कंपनी है जिसका बेंगलुरू में भी एक दफ्तर है। यह कंपनी डाटा ट्रांजेक्शंस पर नजर रखती है। क्लाउडसेक के चीफ टेक्निकल ऑफिसर राहुल सासि ने एशिया टाइम्स को बताया कि कंपनी का एक क्रॉलर (प्रोग्राम) है जो डार्क/डीप वेबसाइट पर नजर रखता है। डार्क या डीप वेबसाइट वे साइट होती हैं जो गूगल या किसी अन्य सर्च इंजन पर इंडेक्स नहीं होती हैं। इन वेबसाइट्स पर गैर कानूनी तरीके से जानकारी को खरीदा और बेचा जाता है।सासि ने बताया कि क्रालर के जरिए हम डेटा को सर्च करके हमारे द्वारा बनाए गए मशीन लर्निंग प्रोग्राम पर भेजते हैं। अगर हमे पता चलता है कि इस डेटा में ऐसा कुछ भी है जो या तो हमारे क्लाइंट के हित में है या संवेदनशील है तो हम इस पर तत्कार एक्शन लेते हैं। एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारी (चीफ इंफॉर्मेशन सिक्युरिटी ऑफिसर) टीडी वीरवानी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि बैंक इस मामले में सरकार के साथ मिलकर काम कर रही है। बैंक के ग्राहकों की जो जानकारी वेबसाइट पर बिकने के लिए उपलब्ध थी उनमें कार्डधारक का नाम, कार्ड की एक्सपायरी डेट, पर्सनल आइडेंटिफिकेशन नंबर और कार्ड वेरिफिकेशन वैल्यु शामिल है। सासि ने यह भी बताया कि जानकारी के दो सेट इस वेबसाइट पर रिलीज किये जा रहे थे। एक सीवीवी नंबर के साथ और एक बिना सीवीवी नंबर के। लीक हुए डाटा पर आखिरी तारीख 29 जनवरी 2018 की है, जो यह दर्शाता है कि अभी भी हजारों कार्डधारकों की जानकारी यहां दर्ज है। !!

हमें राजनीति करनी नहीं आती, कांग्रेस-बीजेपी 24 घंटे हमारे पीछे: केजरीवाल !!

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर शुक्रवार सुबह दिल्ली पुलिस ने छानबीन की थी। दिल्ली पुलिस केजरीवाल के घर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से कथित मारपीट के मामले में सीसीटीवी फुटेज को जब्त करने गई थी। अब दिल्ली पुलिस की इस कार्रवाई के जवाब में आम आदमी पार्टी (AAP) और केजरीवाल ने हमला बोला है। केजरीवाल ने दिल्ली के उत्तम नगर में आयोजित एक रैली में बयान दिया है कि उन्हें राजनीति करनी नहीं आती है और उनको निशाना बनाया जा रहा है।केजरीवाल ने उत्तम नगर में आयोजित एक रैली में दिल्ली पुलिस की इस कार्रवाई पर कहा, ‘हम एक ही बात में मात खा गए कि हमें राजनीति करनी नहीं आती है। बीजेपी और कांग्रेस वाले लोग 24 घंटे हमारे पीछे लगे रहते हैं। एलजी के दफ्तर में दो महीने से फाइल लटकी थी, मैं आपके लिए बहुत लड़ता हूं। हमने जो काम किया लोगों के लिए किया, अपने परिवार के लिए कुछ नहीं किया। हमने इतने सारे काम किए हैं दिल्ली में, मीडिया वालों ने कुछ नहीं दिखाया। इन लोगों को आपके भले से कोई लेना-देना नहीं है।’ इससे पहले भी केजरीवाल ने अपने घर में दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर ट्वीट किया था कि ‘खूब पुलिस मेरे घर भेजी है। मेरे घर की छानबीन चल रही है। बहुत अच्छी बात है। पर जज लोया के कत्ल के मामले में अमित शाह से पूछताछ कब होगी?’ आम आदमी पार्टी ने अपने सोशल मीडिया पेज पर दिल्ली पुलिस के सर्च अभियान के विडियो भी पोस्ट किए हैं। AAP का कहना है, ‘यह कोई आतंकी कैंप नहीं बल्कि दिल्ली के मुख्यमंत्री का आवास है। सोचिए किस तरह की हिटलरशाही की शुरुआत हो चुकी है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर पुलिस की कार्रवाई का यह विडियो देखें और अनुमान लगाएं कि किस हद तक चुनी हुई सरकार के खिलाफ साजिश रची जा रही है?’ AAP नेता संजय सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘आज जो दिल्ली में हो रहा है क्या वह सही हो रहा है? यह मत देखिए कि मुख्यमंत्री के घर पर छापे पड़ रहे हैं, सोचिए जो आज अरविंद केजरीवाल के साथ हो रहा है कल वो आपके साथ भी हो सकता है। इस देश का, इस लोकतंत्र का दुर्भाग्य है कि तानाशाह और गुंडे किस्म की मानसिकता के लोग इस देश की सत्ता और शासन पर काबिज हो गए हैं। जिनका मकसद सिर्फ़ देश में अराज़कता, नफ़रत फैलाना है। हमारे मंत्री और उनके सहयोगियों के साथ दिल्ली सचिवालय में कैमरे के सामने मारपीट की गई। हमारे पास सारे साक्ष्य होने के बावजूद पुलिस की तरफ़ से कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई? क्या वाकई दिल्ली पुलिस इतनी निष्पक्षता के साथ काम कर रही है।’ संजय सिंह ने आगे कहा, ‘आम आदमी पार्टी ने तय किया है कि कल देश के हर जिला मुख्यालय, राज्य मुख्यालय पर इनकी तानाशाही और गुंडागर्दी का विरोध प्रदर्शन करेगी।’ आप नेता आशुतोष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘सीएम के घर पर दिल्ली पुलिस कमरे में किए गए पेंट के बारे में पूछताछ कर रही है। पेंट का इस घटना से क्या लेना-देना? पुलिस वाले सीएम के घर जाकर पूछ रहे हैं कि यह पेंट कब हुआ और क्यों पेंट हुआ। दिल्ली पुलिस पीड्ब्लयूडी वाले को बुलाने को कह रही है। क्या आप सोच सकते हैं इस बारे में?’

PNB महाघोटाले का असर, बैंकों ने इन नियमों में किया बदलाव !!

पंजाब नेशनल बैंक में हुए घोटाले का असर अब पीएनबी समेत अन्य बैंकों के कामकाज पर पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि ‘स्विफ्ट’ नेटवर्क के इस्तेमाल के नियम सख्त कर दिए गए हैं. अब केवल अधिकारी ‘स्विफ्ट’ पर मैसेज जनरेट कर सकेंगे. मैसेज जनरेट करने, वेरिफाई करने और उसे अथॉराइज करने वाले तीन अलग-अलग अधिकारी होंगे. इसके पहले तक दो अधिकारी या क्लर्क इसे जनरेट करते थे. इस बारे में 17 फरवरी को बैंक के सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को मेमो भेजा गया है. आने वाले गुरुवार से इस पर अमल के निर्देश दिए गए हैं. पीएनबी ने तो मुंबई में एक नई ट्रेजरी डिवीजन भी बनाई है. यह डिविजन ब्रांच के जिम्मे ‘स्विफ्ट’ के जरिए भेजे जाने वाले मैसेज को री-अथॉराइज करने का जिम्मा होगा. यही नहीं, अगर कोई मैसेज रिजेक्ट किया जाता है तो उसका रिकॉर्ड रखना पड़ेगा, ताकि उसकी ऑडिटिंग की जा सके. बता दें कि ‘स्विफ्ट’ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्य एक मैसेजिंग नेटवर्क है. जब बैंकों के बीच लेन-देन होता है तब इसकी सूचना स्विफ्ट के जरिए भेजी जाती है. पीएनबी के ब्रेडी हाउस ब्रांच के डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्‌टी, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के जो एलओयू जारी करता था, उसकी सूचना वह दूसरे बैंकों को ‘स्विफ्ट’ के जरिए ही देता था. !!

राष्ट्रपति भवन में PM मोदी ने गले लगाकर किया ट्रूडो का स्वागत !!

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो का शुक्रवार सुबह राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गले लगाकर ट्रूडो का स्वागत किया. जस्टिन ट्रूडो के साथ उनका पूरा परिवार भी मौजूद रहा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे. दोनों नेताओं की इस मुलाकात को भारत-कनाडा के बीच संबंधों को और मजूबत करने के दिशा में उठाए गए कदम के रूप में देखा जा रहा है. भारत और कनाडा के बीच कई एमओयू पर साइन हुए हैं. इनमें खेल को लेकर भी समझौता हुआ है. राष्ट्रपति भवन में आधिकारिक स्वागत के बाद ट्रूडो राजघाट पहुंचे, जहां उन्होंने महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी. उनके साथ पूरा परिवार मौजूद था. इसके बाद जस्टिन ट्रूडो ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मुलाकात की. पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के साथ कल होने वाली मुलाकात और सभी क्षेत्रों में भारत और कनाडा के बीच संबंधों को और मजबूत करने के सिलसिले में होने वाली बातचीत को लेकर आशान्वित हूं. दोनों देशों के बीच संबंधों के प्रति उनकी गहन प्रतिबद्धता की मैं सराहना करता हूं.’ दरअसल जब प्रधानमंत्री मोदी अन्य विदेश राष्ट्राध्यक्षों के स्वागत की तरह पीएम ट्रूडो की अगवानी करने एयरपोर्ट पर नहीं पहुंचे तो कनाडा में यह अटकलें तेज हो गईं कि कनाडा में सिख कट्टरपंथ का बढ़ना भारत में ट्रूडो की अनदेखी की वजह है. न सिर्फ पीएम मोदी बल्कि केंद्र सरकार के मंत्रियों और आगरा दौरे के वक्त सीएम योगी की पीएम जस्टिन ट्रूडो से दूरियों ने इन अटकलों को और तेज कर दिया था. हालांकि सरकारी सूत्रों ने इन अटकलों को खारिज किया है.

पिछली मुलाकात को किया याद

अब मुलाकात से पहले पीएम मोदी ने सिर्फ आशान्वित नहीं हैं बल्कि उन्होंने ट्रूडो के परिवार से अपनी पिछली मुलाकात की यादें भी साझी की हैं. मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि जस्टिन ट्रूडो और उनके परिवार ने यहां अब तक का समय आनंद से बिताया है, उनके बच्चों जेवियर, एला ग्रेस और हाद्रियन से मुलाकात का इंतजार है.’पीएम ने इस ट्वीट के साथ 2015 के अपने कनाडा दौरे की तस्वीर भी पोस्ट की, जब उन्होंने ट्रूडो और उनकी बेटी एला ग्रेस से मुलाकात की थी.

आगरा से लेकर अमृतसर का दौरा

बता दें कि कनाडाई पीएम ट्रूडो 7 दिन के भारत दौरे पर हैं. इस दौरान उन्होंने भारत के कई शहरों का दौरा किया और ऐतिहासिक स्थलों की भव्यता का आनंद उठाया. बुधवार को ट्रूडो सिखों के पवित्र धार्मिक स्थल अमृतसर पहुंचे. स्वर्ण मंदिर में उनके स्वागत के लिए शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल मौजूद थे. राज्य के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह से भी ट्रूडो की मुलाकात हुई. राजनेताओं के अलावा ट्रूडो की अगुवाई में कनाडाई दल ने बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान और आमिर खान से भी मुलाकात की है. इसके अलावा ट्रूडो भारत में कई कारोबारियों से मिले और व्यापारिक बैठकों में भी शिरकत की है. !!

 

पॉर्श ने भारत में लॉन्च की अपनी पावरफुल 911 GT3 RS सुपरकार !!

जर्मन की हाई परफॉर्मेंस स्पोर्ट्स कार निर्माता कम्पनी पोर्श ने अपनी पावरफुल सुपरकार 911 GT3 RS को भारत में लॉन्च कर दिया है। इसे 2.74 करोड़ रुपए में खरीदा जा सकेगा। भारत में इस सुपरकार की प्री-बुकिंग्स आज से ही शुरू कर दी गई है। इस कार की खासियत है कि यह 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार महज 3.2 सैकेंड में पकड़ लेती है और इसकी टॉप स्पीड 312 किलोमीटर प्रति घंटा की बताई गई है।

पावरफुल मोटर
पॉर्श 911 GT3 RS में खास बनाई गई 520PS मोटर लगी है जो 513 bhp की पावर पैदा करती है। इस मोटर के साथ लगा फ्लैट-सिक्स इंजन पिछले मॉडल के मुकाबले 20 हॉर्सपावर ज्यादा जनरेट करता है। कम्पनी ने बताया है कि इसे खास तौर पर कैलिब्रेटेड 7-स्पीड पीकेडी गियरबॉक्स से लैस किया है।

porsche 911 gt3 rs

कार में लगे हैं 20 इंच के बड़े अलॉय व्हील्स
पॉर्श ने 911 GT3 RS में 20-इंच साइज के रिम लगाए हैं जो वजन में काफी हल्के हैं। इन रिम्स के उपर 21 इंच साइज के टायर्स को फिट किया गया है। रेसट्रैक पर इस स्पोर्ट कार के बेहतर प्रदर्शन के लिए इस बार कम्पनी ने इसके एयरोडायनामिक्स डिजाइन पर भी काफी काम किया है। पोर्श ने कार के इंटीरियर को पूरी तरह कार्बन फाइबर से बनाया है जो इसमें बैठने वाले लोगों को काफी आकर्षित करता है।

porsche 911 gt3 rs

पोर्श अब नहीं बनायेगी डीजल इंजन वाली कारें, जानिए कारण !!

लग्जरी कार निर्माता कंपनी पोर्श ने घोषणा की है कि कंपनी अब डीजल इंजन वाली कारें नहीं बनायेगी। कंपनी की तरफ से यह एक बड़ी घोषणा है लेकिन इसके पीछे क्या बड़ा कारण है कि पोर्शे को यह कदम उठाना पड़ा, आइये जानते हैं। दरअसल कंपनी ने यह फैसला पेट्रोल और हाइब्रिड कारों की तरफ लोगों के बढ़ते रूझान को ध्यान में रखते हुए लिया है। इंटरनेशनल मार्किट में पोर्श की दो कारें माकन एस और पैनामेरा 4एस डीजल इंजन में आती है, और आपको बता दे कि कंपनी इन दोंनो कारों का प्रोडक्शन बंद कर चुकी है। लेकिन नबात अगर भारत जैसे बड़े कार मार्किट की करें तो यहां कंपनी सिर्फ क्यान डीजल मॉडल बेचती है। लेकिन जल्द ही पोर्श कारों की रेंज में से डीजल इंजन वाली क्यान का नाम भी हट जाएगा। कंपनी ने एक बयान के अनुसार दुनियाभर में डीजल कारों की हिस्सेदारी महज 15 फिसद है जबकि हाइब्रिड कारों की हिस्सेदारी 50 फिसद और पेट्रोल कारों की हिस्सेदारी 35 फिसद है। ऐसे में अब डीजल इंजन वाली कारों के प्रोडक्शन को बंद करने के लिए ये आंकड़े काफी हैं। ऐसे में अब कंपनी इलेक्ट्रिक और हाइब्रिड कारों को बनाने पर ज्यादा ध्यान देगी। जानकरों की माने तो कंपनी साल 2019 तक अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार लॉन्च कर सकती है। भारतीय कार बाजार पोर्श पैनामेरा 4ई हाइब्रिड पहले से ही बिक्री के लिए मौजूद है और 2019 तक कंपनी यहां क्यान हाइब्रिड को भी लॉन्च कर सकती है। !!

यूपी में JIO करेगा 10,000 करोड़ रुपये का निवेश: दिलाएगा नौकरियों के भी मौके !!

नई दिल्लीः रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने आज यूपी इंवेस्टर्स समिट के दौरान उत्तर प्रदेश में 10,000 करोड़ रुपये का निवेश करने का एलान किया है. इसके साथ ही राज्य में अगले 3 सालों में जियो के जरिए करीब 1 लाख नौकरियां पैदा करने का भी प्लान है. माना जा रहा है कि इससे प्रदेश के युवाओं के लिए अगले सालों में नौकरियों के दरवाजे खुल जाएंगे. इसके अलावा जियो की तरफ से एलान हुआ है कि वो प्रदेश में राज्य सरकार और एक यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर कैम्पस लगाएगी. मुकेश अंबानी ने यूपी इंवेस्टर्स समिट के दौरान कहा कि देश के सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले राज्य को सबसे समृद्ध राज्य बनाने के लिए डिजिटल इंडिया मिशन को बढ़ावा दिया जाना जरूरी है. इसी के लिए 2 सालों से भी कम वक्त में रिलायंस ने उत्तर प्रदेश समेत पूरे देश में वर्ल्ड क्लास डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर बनाया है. जियो ने पहले ही करीब 40,000 प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियों के मौके बनाए हैं और अब ये मौके और बढ़ाने वाला है. इसके अलावा रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन ने कहा कि अन्य मौके के अलावा जियो वरीयता के आधार पर पूरे यूपी में 2 करोड़ फोन्स मुहैया कराएगा क्योंकि ये राज्य ‘रिलायंस समूह के लिए खास’ है. उत्तर प्रदेश में निवेशकों को लुभाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट 2018 का आयोजन किया है. इस आयोजन का उद्घाटन आज खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया. इस मौके पर प्रधामंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में परिवर्तन हो रहा है और ये नजर भी आ रहा है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश पूरे देश का ग्रोथ इंजन बन सकता है. यहां संसाधनों की कमी नहीं है, पहले के हालात और अब में फर्क है. वहीं उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में उत्तर प्रदेश को बीमारू राज्य से उबारकर देश का सबसे अच्छा प्रदेश बनाना है. उन्होंने कहा कि किसी भी विकास के लिये सुरक्षा, इंफ्रास्ट्रक्चर, का माहौल होना चाहिये. यूपी सरकार ने इन 11 महीनों में कानून का राज स्थापित किया है. !!

RBI का बड़ा फैसला, 7 दिन में बंद हो जाएंगे सभी मोबाइल वॉलेट, जानिए पूरा मामला !!

नई दिल्ली: अगर आप मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं तो आपको झटका लग सकता है. दरअसल, रिजर्व बैंक मार्च से देश भर में चल रहे कई मोबाइल वॉलेट बंद करने पर फैसला कर सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि मोबाइल वॉलेट कंपनियों ने रिजर्व बैंक के एक अहम आदेश को पूरा नहीं किया है. अगर नियम पूरा नहीं होता तो मोबाइल वॉलेट को बंद कर दिया जाएगा. आरबीआई के इस आदेश को 1 मार्च तक पूरा करना होगा. अगर ऐसा नहीं हुआ तो आपका मोबाइल वॉलेट अकाउंट बंद कर दिए जाएंगे. रिजर्व बैंक ने देश में लाइसेंस प्राप्त सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों को अपने ग्राहकों का केवाईसी नॉर्म्स पूरा करने के लिए 28 फरवरी 2018 तक का वक्त दिया था. ज्यादातर कंपनियां आरबीआई के इस आदेश को पूरा नहीं कर पाई हैं. अगर फरवरी तक यह पूरा नहीं हुआ तो देश भर में कई कंपनियों के मोबाइल वॉलेट बंद हो जाएंगे. अभी पूरे देश में 9 फीसदी से कम मोबाइल वॉलेट उपभोक्ताओं ने अपने केवाईसी कंपनियों को दिया है. ऐसे में देश में 91 फीसदी से अधिक मोबाइल वॉलेट अकाउंट बिना केवाईसी के चल रहे हैं. अब इन 91 फीसदी उपभोक्ताओं के अकाउंट के बंद होने की आशंका है. एयरटेल मनी, पेटीएम आदि मोबाइल वॉलेट सेवा प्रदाता कंपनियां ग्राहकों को समय-समय पर केवाईसी पूरा करने के लिए सूचित कर रही हैं. ग्राहकों को अपने मोबाइल वॉलेट को आधार कार्ड और पैन कार्ड से लिंक कराना होगा, इस तरह से केवाईसी पूरा हो जाएगा. इसके बाद आपका मोबाइल वॉलेट सुरक्षित हो जाएगा. !!

नीरव मोदी के करोंड़ों रुपये की 9 लग्जरी कारें जब्त, मेहुल चोकसी के 86 करोड़ के शेयर फ्रीज !!

गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय ने PNB घोटाले में फंसे हीरा व्यापारी नीरव मोदी के फार्महाउस पर छापा मारा और कई लग्जरी गाड़ियां जब्त कीं। ये सभी कारें नीरव मोदी और कंपनी की हैं। इन कारों में बेश कीमती इम्पोर्टेड कारों के साथ-साथ कुछ भारतीय लग्जरी गाड़ियां भी शामिल हैं। इसके अलावा ईडी ने नीरव मोदी के 7.80 करोड़ रुपये के म्यूचल फंड और शेयर फ्रीज कर दिए हैं। साथ ही नीरव मोदी और मेहुल चोकसी ग्रुप के 94 करोड़ रुपये म्यूचल फंड और शेयर भी फ्रीज किए गए हैं। इसमें मेहुल चोकसी ग्रुप के 86.72 करोड़ रुपये के शेयर और म्यूचल फंड शामिल हैं। नीरव मोदी के घर से बरामद हुई गाड़ियों में से एक रोल्स रॉयस घोस्ट है, जिसकी कीमत 5.25 से लेकर 6 करोड़ रूपये के बीच है। वहीं उनके घर से मर्सिडीज बेंज की GL 350CD की दो गाड़ियां मिली हैं। मर्सिडीज की हर एक कार की कीमत करीब 70 लाख रूपये है। वहीं इनमें से एक कार पोर्शे कंपनी की पानामेरा है, जिसकी कीमत करीब 2 करोड़ है। इसके अलावा उनके घर से 3 हॉन्डा सिटी, एक फॉर्च्यूनर और एक इनोवा कार जब्त की गई है। इससे पहले उनकी कपंनियों से संबंधित 141 बैंक खाते/सावधि जमा (एफडी) खातों को आयकर विभाग ने जब्त किए थे। इन खातों में जमा धन 146 करोड़ के करीब है। जबकि दूसरी ओर विभाग ने विक्रम कोठारी के नेतृत्व वाले रोटोमैक समूह की 4 अचल संपत्तियों को भी जब्त किया है। ये संपत्तियों में तीन कानपुर और एक अहमदाबाद में है। प्रवर्तन निदेशालय, वित्तीय खुफिया विभाग, गंभीर वित्तीय धोखाधड़ी कार्यालय (एसएफआईओ) और सीबीआई की कार्रवाई आयकर विभाग से इतर दोनों मामलों में देशभर में चल रही है। विभाग के मुताबिक बुधवार को नीरव मोदी समूह के देश के विभिन्न हिस्सों में चल रहे 141 खातों को जब्त किया गया है। इनमें बैंक और सावधि जमा खाते शामिल हैं, जिनमें कुल 145.74 करोड़ रुपये जमा हैं।

नीरव से कारोबार करने वालों पर भी नजर
सूत्रों ने बताया कि विभाग नीरव से कारोबार करने वाली तमाम कंपनियों पर भी कार्रवाई कर रही है, क्योंकि इन पर नीरव की काली कमाई को सफेद करने का संदेह है। बता दें कि आयकर विभाग ने मंगलवार को नीरव और चोकसी के 33 ठिकानों पर विभाग ने छापेमारी की थी और संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों से पूछताछ भी की थी।

नीरव का मुंबई स्थित फार्म हाउस सील
सीबीआई ने बुधवार को पीएनबी घोटाले में शामिल हीरा कारोबारी नीरव मोदी के मुंबई के अलीबाग स्थित फार्म हाउस को सील कर दिया। करीब डेढ़ एकड़ में फैले इस फार्म हाउस की कीमत 32 करोड़ रुपये से अधिक है। वहीं, सूत्रों का कहना है कि नीरव इस समय बेल्यिजम में हैं या किसी अन्य देश में इसके बारे में सीबीआई के पास फिलहाल कोई पुख्ता जानकारी नहीं है।
सूत्रों ने बताया कि नीरव ने यह यह फार्म हाउस वर्ष 2004 में खरीदा था। इसके 12 हजार वर्गफुट इलाके में बंगला, थियेटर और स्वीमिंग पूल बना हुआ है। इस फार्म हाउस में नीरव हीरों की प्रदर्शनी के लिए पार्टी आयोजित करते थे। सीबीआई के मुताबिक नीरव मोदी 1 फरवरी को और 6 फरवरी को उनकी पत्नी देश से बाहर गई थी। नीरव की अंतिम लोकेशन दुबई है और उसके बाद वह किस देश में हैं यह जानकारी उनके पास नहीं हैं।

पटना में फिर दो जगह पड़ा ईडी का छापा
प्रवर्तन निदेशालय ने बुधवार को पटना में एक नामी ब्रांड के मॉल में छापा मारा। यह कार्रवाई पीएनबी लोन घोटाले के सिलसिले में हुई। हालांकि अफसरों के हाथ कुछ नहीं लगा। सूत्रों के मुताबिक ईडी को खबर मिली कि पटना के राजापुर पुल और एग्जीबिशन रोड स्थित एक नामी कंपनी के मॉल में गीतांजलि जेम्स के हीरे-सोने के जेवरात बेचे जाते हैं। सूचना पर बुधवार को ईडी की टीम ने एक साथ दोनों जगहों पर कार्रवाई की। मॉल की तलाशी ली गई, लेकिन वहां गीतांजलि जेम्स के जेवरात नहीं बेचे जा रहे थे। छानबीन करने के बाद जब ईडी की टीम आश्वस्त हो गई कि मॉल में जेवरात नहीं बेचे जा रहे हैं तो वापस लौट गई।

करोड़ों के जेवरात जब्त किए गए हैं
पीएनबी के लोन लेने के बाद फरार नीरव मोदी के जीतांजलि जेम्स के जेवरात की तलाशी में ईडी की बिहार में कई शहरों में छापेमारी हुई है। पटना में दो स्थानों से 2.09 और करीब 1 करोड़ के जेवरात जब्त किए गए थे। वहीं, मुजफ्फरपुर और किशनगंज में भी तलाशी के दौरान जेवरात जब्त किए गए थे।

सीबीडीटी प्रमुख की सीधी नजर
सीबीडीटी अध्यक्ष सुशील चंद्रा लगातार छापेमारी और सर्वेक्षण के बारे में अधिकारियों से अपडेट ले रहे हैं। विभाग ने मंगलवार को 13 अन्य कंपनियों के खिलाफ भी कार्रवाई की थी। सीबीडीटी को नीरव और उनके मामा और गीतांजलि जेम्स के प्रमोटर मेहुल चोकसी के मामले में कालेधन की बड़ी संलिप्ता होने की आशंका है। सूत्र बताते हैं कि वित्तीय खुफिया विभाग लगातार इस मामले में विभाग को इनपुट दे रहा है।