प्रेमगीत लवली का सूकमल टेली फिल्म के बैनर तले लोकार्पण किया !!

इंदिरापुरम : रोहित कुमार बॉबी द्वारा संगीतबद्ध किया गया देसी प्रेमगीत लवली का सोमवार को सूकमल टेली फिल्म के बैनर तले लोकार्पण किया गया । पश्चिमी उत्तर प्रदेश की भाषा शैली एवं पृष्ठभूमि पर आधारित इस प्रेम गीत को स्वर दिया है राजू मलिक ने लिखा है राजीव तेवतिया ने । इस प्रेम गीत में लड़की शहरी है और लड़का देहाती। तो किस तरह तरह से दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ता है ये इस गाने में दर्शाया गया है, इस गाने का निर्देशन जानेमाने निर्देशक संजीव वेदवान ने किया है अभिनय की बात करे तो मुख्य कलाकार देव तोमर व प्रीति चौधरी के साथ निशांत भड़ाना , डॉ चित्रा सिंह आर के देव रहे। गौरतलब है कि बिग बॉस के विनर आशुतोष कौशिक ने 21 जनवरी 18 को इस गाने के पोस्टर को रिलीज किया था। देहाती पृष्ठभूमि पर आधारित गीत जहां गुदगुदाता है तो दूसरी तरफ युवाओं को गांव की देशी अल्हड़ भाषा शैली से परिचय कराता है। निर्देशक संजीव वेदवान बताते है कि अब पंजाबी गानों की तरह हरयाणवी व पश्चिमी यूपी भाषाशैली को भी दर्शक बहुत पसंद कर रहे है । इसी लिए टॉलीवुड कहे जाने वाली ये इंडस्ट्री लगातार सक्रिय है । गाने से जुड़े सभी कलाकार भी इसी परिवेश से है ।
गाने का लिंक :- https://youtu.be/zuPfJemQ3Us

सीलिंग पर भड़के BJP विधायक, मुख्यमंत्री बोले- ‘अरे! पहले चाय तो पी लो’ !!

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में चल रहे सीलिंग अभियान के मुद्दे पर आज यहां मुख्यमंत्री आवास पर भाजपा के नेताओं के साथ हुई बैठक न सिर्फ बेनतीजा रही बल्कि भाजपा नेताओं ने बैठक में उनके साथ बदसलूकी किए जाने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन भी किया। सीलिंग मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज अपने आवास पर बैठक बुलायी थी। इस बैठक में आप नेताओं के अलावा भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी के साथ कई भाजपा नेता भी मौजूद थे। इस दौरान वहां मीडिया के सामने ही केजरीवाल और तिवारी के बीच तीखी बहस हुई। केजरीवाल बार-बार भाजपा नेताओं से कह रहे थे कि हम लोगों ने आपका पक्ष सुना अब हमारा जवाब भी सुन लीजिए लेकिन भाजपा नेता वहां से बाहर को निकल गए। आम आदमी पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो अपलोड किया जिसमें केजरीवाल भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता से अपील कर रहे हैं कि वे उनकी बात सुने और बैठ जाएं। साथ दिल्ली सीएम भाजपा नेताओं से कह रहे हैं, ”अरे, बैठ तो जाओ! पहले चाय तो पी लो!” बता दें कि तिवारी ने आरोप लगाया कि केजरीवाल ने बैठक में गुंडे बुलाए हुए थे। ये लोग इतना शोर शराबा कर रहे थे कि उन्हें अपनी बात कहने का मौका ही नहीं दिया। दूसरी और केजरीवाल ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि उपराज्यपाल चाहें तो इस मुद्दे का हल एक दिन में निकल सकता है। उनके पास इसे लेकर जो फाइलें मौजूद है वह उस पर हस्ताक्षर नहीं कर रहे हैं। यदि इस सप्ताह भी वह कुछ नहीं करते तो हम सीलिंग की कार्रवाई पर रोक के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि सीलिंग में भी भेदभाव हो रहा है। करीब 351 सड़कों पर सीलिंग नहीं हो रही है, सर्वे की रिपोर्ट अभी तक दिल्ली नगर निगम ने राज्य सरकार को नहीं सौंपी है। !!

IPL 2018: मामा सहवाग ने अपनी टीम में खरीदा भांजे को !!

नई दिल्ली। आईपीएल 2018 में इस बार किंग्स इलेवन पंजाब से एक ऐसा युवा खिलाड़ी भी खेलते हुए नजर आएगा जिसके एक खास मामले में भारतीय कप्तान विराट कोहली से तुलना होती है। यह खिलाड़ी हैं हिमाचल प्रदेश का मयंक डागर, जो स्टाइल के मामले में विराट कोहली से कम नजर नहीं आता है। अब यह खिलाड़ी आईपीएल में किंग्स इलेवन की तरफ से खेलता हुआ नजर आएगा। मयंक के साथ एक और खास बात यह है कि वो ‍पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के भांजे हैं। सहवाग इन दिनों किंग्स इलेवन के क्रिकेट निदेशक हैं और आईपीएल नीलामी में खिलाड़‍ियों को खरीदने में उनकी अहम भूमिका थी। वो ऑक्शन टेबल पर फ्रेंचाइजी के सहमालिकों के साथ बैठे थे। उनकी सलाह पर ही प्रीति जिंटा खिलाड़‍ि यों के लिए बोली लगा रही थी। ऐसे में सहवाग ने अपने भांजे मयंक डागर को 20 लाख रुपए में अपनी टीम में शामिल किया। मयंक भारतीय अंडर-19 टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। दाएं हाथ से बल्लेबाजी और बाएं हाथ से गेंदबाजी करने वाले मयंक अभी तक 11 फर्स्ट क्लास मैचों में 176 रन बनाने के साथ ही 30 विकेट ले चुके हैं। 13 टी20 मैचों में उनके नाम 12 विकेट दर्ज हैं। !!

अपने शेयर बेच करोड़पति बने Paytm के 200 कर्मचारी !!

ऑनलाइन पेमेंट एप पेटीएम दिन प्रतिदिन नई ऊंचाईयों की छूती जा रही है. सोमवार को कंपनी ने ऐलान किया कि उनकी मार्केट वैल्यू 63,537 करोड़ रुपए तक पहुंच गई है. पेटीएम के पूर्व और मौजूदा 200 कर्मचारियों ने अपनी ESOP को बेचा है, जिनकी कीमत करीब 300 करोड़ रुपए तक की है. जिसके कारण कंपनी की मार्केट वैल्यू में काफी उछाल आया है. पेटीएम के बयान के मुताबिक, कंपनी की मार्केट वैल्यू 10 बिलियन यूएस डॉलर तक छू गई है. पिछले साल मई में ये वैल्यू करीब 7 बिलियन डॉलर तक की थी. हाल ही में जापान सॉफ्टबैंक कंपनी ने भी पेटीएम में करीब 1.4 बिलियन डॉलर का निवेश किया था. जिसके बाद पेटीएम फ्लिपकार्ट के बाद देश का सबसे अधिक वैल्यू वाली कंपनी बन गई थी. ESOP किसी भी कंपनी के कर्मचारी को मिल रही सैलरी से अलग होते हैं. 200 कर्मचारियों ने इन शेयरों को बेचा जिसके कारण कंपनी के खाते में 300 करोड़ जुड़े हैं. बता दें कि इससे पहले पिछले साल ही पेटीएम के फाउंडर विजय शंकर शर्मा ने अपने 1 फीसदी शेयर को बेचा था जिससे कंपनी ने करीब 325 करोड़ रुपयए कमाए थे. गौरतलब है कि पेटीएम का दायरा लगातार बढ़ा है. हाल ही में पेटीएम को बैंक का लाइसेंस भी मिला है. पेटीएम इस समय पेटीएम पेमेंट बैंक, पेटीएम मॉल, पेटीएम मनी समेत कई अन्य प्रोडक्ट को चला रहा है. गौरतलब है कि बीते साल मई में कंपनी ना पेटीएम बैंक लाइव हुआ था. कंपनी के मुताबिक पहले साल में 31 ब्रांच और 3,000 कस्टमर प्वॉइंट बनाने का लक्ष्य था. पहले एक मिलियन पेटीएम पेमेंट बैंक अकाउंट कस्टमर्स को 25 हजार रुपये जमा करने पर उन्हें 250 रुपये का इंस्टैंट कैशबैक दिया जाएगा. !!

राष्ट्रपिता की पुण्यतिथि आज, शहीद दिवस के रूप में नमन करेगा देश !!

आप उन्हें बापू कहो या महात्मा दुनिया उन्हें इन दोनों नामों से जानती हैं. अहिंसा और सत्याग्रह के संघर्ष से उन्होंने भारत को अंग्रेजो से स्वतंत्रता दिलाई. उनका ये काम पूरी दुनिया के लिए मिसाल बन गया. वो हमेशा कहते थे बुरा मत देखो, बुरा मत सुनो, बुरा मत कहो, और उनका ये भी मानना था की सच्चाई कभी नहीं हारती. इस महान इन्सान को भारत ने राष्ट्रपिता घोषित कर दिया. उनका पूरा नाम था ‘मोहनदास करमचंद गांधी. महात्मा गांधी का जन्म गुजरात राज्य के शहर पोरबंदर में हुआ था. गांधीजी ने शुरुआत में काठियावाड़ में शिक्षा ली बाद में लंदन में विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री प्राप्त की. इसके बाद वह भारत में आकर अपनी वकालत की अभ्यास करने लगे. लेकिन सफल नहीं हुए. उसी समय दक्षिण अफ्रीका से उन्हें एक कंपनी में क़ानूनी सलाहकार के रूप में काम मिला.
वहा महात्मा गांधीजी लगभग 20 साल तक रहे. वहां भारतीयों के मुलभुत अधिकारों के लिए लड़ते हुए कई बार जेल भी गए. अफ्रीका में उस समय बहुत ज्यादा नस्लवाद हो रहा था. उसके बारे में एक किस्सा भी है, जब गांधीजी अग्रेजों के स्पेशल कंपार्टमेंट में चढ़े उन्हें गांधीजी को बहुत बेईजत कर के ढकेल दिया. वहां उन्होंने सरकार विरूद्ध असहयोग आंदोलन संगठित किया.आखिर में अफ्रीकी सर्कार को भी उनके सामने झुकना पड़ा. वे एक अमेरिकन लेखक हेनरी डेविड थोरो लेखों और निबंधो से बेहद प्रभावित थे. आखिर उन्होंने अपने विचारों और अनुभवों से सत्याग्रह का मार्ग चुना, जिस पर गांधीजी पूरी जिंदगी चले. पहले विश्वयुद्ध के बाद भारत में ‘होम रुल’ का अभियान तेज हो गया.1919 में रौलेट एक्ट पास करके ब्रिटिश संसद ने भारतीय उपनिवेश के अधिकारियों को कुछ आपातकालीन अधिकार दिये तो गांधीजी ने लाखों लोगों के साथ सत्याग्रह आंदोलन किया. गांधीजी का पूर्ण विश्वास अहिंसा के मार्ग पर चलने में था, और वो पूरी जिंदगी अहिंसा का संदेश देते रहे. आज ही के दिन 1948 में उन्ही के एक साथी नाथूराम गोडसे ने उनके सीने में तीन गोलियां दाग दी, और अहिंसा के पुजारी ने “हे राम” कहते हुए प्राण त्याग दिए. आज भारत में फ़ैल रही अराजकता से बचने के लिए और देश को फिर से एक सूत्र में बांधने के लिए हमे गांधीजी के अहिंसा के सन्देश को बार बार याद करने की जरुरत है. !!

कासगंज हिंसा को लेकर नया खुलासा, Facebook पर जिसे मरा हुआ बताया वो निकला ‘जिंदा’, !!

कासगंज: यूपी के कासगंज से हैरान कर देले वाली खबर आई है। पता लगा है कि कासगंज में हिंसा भड़काने में सोशल मीडिया का बड़ा रोल रहा। झूठी अफवाहें फैलाई गईं, लोगों को भड़काया गया और झूठे वीडियो के जरिए आग लगवाई गई। कासगंज में 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के दौरान हिंसा भड़की थी। पथराव हुआ था, गोलियां चली थीं और एक शख्स की जान चली गई थी लेकिन सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई गई कि हिंसा में दो लोग मारे गए हैं। खून से लथपथ एक शख्स की फोटो वायरल की गई। दावा किया गया कि राहुल उपाध्याय नाम के इस व्यक्ति की मौत हिंसा में हुई है लेकिन जब पुलिस ने जांच की तो पता लगा कि इस नाम का शख्स कासगंज के एक गांव का रहने वाला है। जो फोटो वायरल की गई वो भी राहुल उपाध्याय की थी लेकिन उसे तो खरोंच तक नहीं आईं।

कासगंज में धड़ल्ले से फैलाई गई झूठी खबरें

एक न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक 26 जनवरी को जब हिंसा हुई तो राहुल उपाध्याय कासगंज में था ही नहीं। फोटोशॉप के जरिए उसकी तस्वीर को खून से लथपथ दिखा कर उसकी हत्या का दावा किया गया। दूसरी बड़ी बात सोशल मीडिया पर दावा किया गया था कि तिरंगा यात्रा के दौरान पथराव हुआ और कुछ लोगों ने यात्रा के विरोध में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए इसलिए माहौल खराब हुआ। इसके वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुए लेकिन असलियत ये है कि 26 जनवरी को कासगंज में पाकिस्तान जिंदाबाद जैसे कोई नारे नहीं लगे थे। इसके जो वीडियो सोशल मीडिया में पोस्ट किए गए वो भी झूठे थे उनमें पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे भावनाओं को भड़काने के लिए अलग से डाले गए थे।

जिसे मृत दिखाया गया, आज वो सामने आया

जब राहुल उपाध्याय की मौत का दावा करने वाली फोटो सोशल मीडिया में सर्कुलेट हुई तो पुलिस ने राहुल को ढूंढना शुरु किया। आज अलीगढ़ रेंज के आईजी संजीव गुप्ता खुद राहुल उपाध्याय को मीडिया के सामने लेकर आए। उन्होंने बताया, राहुल बिल्कुल ठीक हैं। कोई चोट नहीं लगी…जो लोग ऐसी अफवाह फैला रहे हैं उन सभी को गिरफ्तार करेंगे। राहुल उपाध्याय ने बताया कि उनके पास कई शहरों से खबर आई कि उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है। उनकी मौत पर शोक सभा हो रही है। राहुल ने बताया कि कि उसे खुद समझ नहीं आ रहा था कि क्या करे..चूंकि माहौल खराब था इसलिए वो पुलिस के पास जाने से डर रहा था। !!

भारतीय नौसेना में शामिल होने जा रहा है ‘करंज’, दुश्मनों को चकमा देकर करेगा तबाह !!

समंदर में दुश्मनों के छक्के छुड़ाने के लिए भारतीय नौसेना में जल्द ही स्कॉर्पीन श्रेणी का एक नया सबमरीन शामिल होगा। ‘करंज’ नाम की इस सबमरीन (पनडुब्बी) को 31 जनवरी को मुंबई के मझगांव डॉकयार्ड से लॉन्च किया जाएगा। इस खास मौके पर नौसेना प्रमुख सुनील लांबा मौजूद होंगे। न्यूज एजेंसी के मुताबिक इस पनडुब्बी को तैयार करने का श्रय मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड को जाता है। बता दें कि यह एक स्वदेशी सबमरीन है जो ‘मेक इन इंडिया’ का परचम लहराएगा।

क्या है ‘करंज’ की ताकत?

दुश्मनों को चकमा देने में ‘करंज’ को माहिर बनाया गया है। अपने आधुनिक फीचर्स और सटीक निशाना लगाने की खूबी से यह चीन और पाकिस्तान जैसे देशों की मुश्किलें बढ़ा देगा। ‘करंज’ सबमरीन युद्ध की किसी भी स्थिति में पास होने की पूरी संभावना रखता है। चाहे पानी में लड़ना हो या फिर एंटी सबमरीन वॉरफेयर या फिर चाहे इंटेलिजेंस इकट्ठा करने की बात हो ‘करंज’ पूरी तरह से आजमाया जा सकता है।

प्रोजेक्ट- 23 हजार करोड़ रुपये
सीरीज की पहली सबमरीन- कलवरी
दूसरी सबमरीन- खंडेरी

कितना बड़ा है ‘करंज’?

लंबाई- 67.5 मीटर
ऊंचाई- 12.3 मीटर
वजन- 1565 टन
तकनीक- फ्रांस

चीन और पाकिस्तान की बढ़ती गुस्ताखियों के चलते भारतीय रक्षा मंत्रालय से भारतीय नेवी को 6 अत्याधुनिक पनडुब्बियों की मंजूरी दी गई थी। जिसके बाद इस परियोजना का 6 पनडुब्बियों की सीरीज का दूसरा आईएनएस खांदेरी पहले ही नेवी के बेड़े में शामिल किया जा चुका है। बता दें कि इन सभी सबमरीनों को 2020 तक भारतीय नेवी में शामिल करने की योजना है।

‘करंज’ की खासियत

रडार की पकड़ में न आना
जमीन पर हमला करने में सक्षम
सबमरीन में ऑक्सीजन बनाने की क्षमता
लंबे समय तक पानी में रहने के काबिल

32 साल पहले जो इतिहास रचा था, भारतीय सेना उसे फिर दोहराएगी, जानिए क्या?
समुद्र में चीन की हेकड़ी निकालने के लिए साथ आए भारत समेत चार देश
लड़ाकू विमान उड़ाने वाली पहली महिला रक्षामंत्री बनीं सीतारमण, बोलीं- ये गर्व की बात
6 स्कॉर्पीन पनडुब्बियों का यह मौजूदा प्रोजेक्ट फ्रांस की कंपनी डीसीएनएस के सहयोग से चलाया जा रहा है। इस डील में मुंबई स्थित मझगांव डॉक शिप बिल्डर्स लिमिटेड को फ्रांसीसी कंपनी टेक्नॉलजी ट्रांसफर भी करेगी। यह प्रोजेक्ट कुल 23 हजार करोड़ रुपये का है। जो जून 2020 तक छह स्कॉर्पीन सबमरीन भारतीय नौसेना को देगा। !!

मसेराटी ने भारत में लॉन्च की SUV लेवान्ते, कीमत 1.4 करोड़ रुपये !!

नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। मसेराती दुनिया में अपनी तेज रफ्तार कारों के लिए जानी जाती है। भारत में इस तरह की कारों की डिमांड हो देखते हुए कंपनी ने अपनी नई SUV लेवान्ते को लॉन्च किया है। भारत में इसकी एक्स शो रूम कीमत 1.4 करोड़ रुपये रखी है। लेवान्ते नाम की इस SUV को ग्रैनलुसो और ग्रैनस्पोर्ट वैरिएंट्स में पेश किया है। इस समय भारत में मसेराटी के 3 डीलरशिप हैं जहां यह कार उपलब्ध होगी। ये डीलरशिप मुंबई, बेंगलुरु और दिल्ली में हैं। इंजन की बात करें तो इस कार में 3.0 लीटर का पेट्रोल और डीजल इंजन का ऑप्शन है। लेकिन भारतीय कार बाजार में यह सिर्फ 3.0 लीटर के डीजल इंजन में ही मिलेगी। इस इंजन को 271 bhp की पावर और 600 Nm टॉर्क मिलता है। ये 0-100 किमी/घंटा की रफ्तार पकड़ने के लये इस कार को सिर्फ 6.9 सेकंड लगते हैं। वहीं इसकी टॉप स्पीड 230 किमी/घंटा है। इसके अलावा इसमें 8-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स लगे हैं। कार चालक के हिसाब से इस कार का एक्टिव साउंड घटाने और बढ़ाने के भी विकल्प दिए गए हैं। कार की ड्राइविंग क्षमता को बढ़ाने के लि कंपनी ने 4 ड्राइविंग मोड्स – ऑटो नॉर्मल, ऑटो स्पोर्ट, ऑटो मैन्युअल और ऑटो ऑफ-रोड दिए हैं। बाहर से यह जिनती अक्रामक नजर आती है भीतर से यह कार उतनी ही आकर्षक दिखती है। कार के केबिन में लग्जरी फीचर्स को शामिल किया गया है। इसमें मसेराटी टच कंट्रोल सिस्टम दिया गया है जो पूरी तरह अपडेटेड है। इसके अलावा इसमें 8.4-इंच हाई-रिज़ॉल्यूशन डिस्प्ले दिया है। इसकी सीट्स प्रीमियम लैदर से लैस हैं। कंपनी का मानना है कि भारत में बढ़ते SUV बाज़ार और लग्ज़री की डिमांड के बीच मसेराटी की ये SUV अपने सैगमेंट में लाजवाब साबित होगी !!

कल लगेगा 2018 का पहला चन्द्र ग्रहण: ग्रहों की चाल के साथ जानें समय !!

बुधवार दिनांक 31 जनवरी 2018 को साल का पहला ग्रहण पड़ रहा है। ज्योतिष के खगोल खंड के अनुसार पूर्णिमा पर सदैव चन्द्र ग्रहण और अमावस्या पर सूर्य ग्रहण पड़ता है। खगोल के दृष्टिकोण से जब समानांतर अक्ष और कोण के सूर्य और चन्द्रमा के बीच पृथ्वी आ जाए तो उसे चन्द्र ग्रहण कहा जाता है। 31 जनवरी 2018 को माघ माह के अंत के साथ ही साल का पहला सूर्य ग्रहण भी पड़ेगा। इस दिन सूर्य श्रवण नक्षत्र में रहेगा मकर राशि और श्रवण नक्षत्र पूर्णिमा होने के कारण चन्द्रमा सूर्य से ठीक सातवीं राशि में स्थित होगा। चन्द्रमा कर्क राशि और पुष्य नक्षत्र में रहेगा। बुधवार पर पुष्य नक्षत्र और पूर्णिमा तिथि के कारण आयुषमान योग रहेगा। सुबह 8 बजकर 38 मिनट पर विष्टिकरण अर्थात भद्रा रहेगी। चन्द्र ग्रहण पर सूतक 12 घण्टे पूर्व लग जाता है। अत: सूर्योदय से ही सूतक का आरंभ हो जाएगा। सुबह 7 बजकर 7 मिनट पर आरंभ होकर रात 8 बजकर 42 मिनट पर सूतक समाप्त होगा। चन्द्र ग्रहण चन्द्र उदय के साथ ही शाम 5 बजकर 58 मिनट पर आरंभ होगा तथा 8 बजकर 41 मिनट 10 सैकंड पर समाप्त होगा। ग्रहण की अवधी 2 घण्टे 43 मिनट तक रहेगी। !!