डीजल – पेट्रोल लेने पर 100% का कैशबैक, मगर ये हैं शर्त !!

पेटीएम अपने यूजर्स के लिए एक धमाकेदार ऑफर लेकर आई है। इस बार यह ऑफर मोबाइल या रिचार्ज पर नहीं बल्कि पेट्रोल और डीजल खरीदने पर निकाला है। इस ऑफर के तहत पेटीएम यूजर्स को पेट्रोल खरीदने पर 100 फीसदी तक का कैशबैक दिया जा रहा है। यह ऑफर खास जयपुर के लिए है। Paytm की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक राजस्थान की राजधानी जयपुर में आज यानि 31 अक्टूबर को पेट्रोल या डीजल लेने पर 100 फीसदी कैशबैक मिल रहा है। मतलब आपको बाइक के लिए पेट्रोल पूरी तरह फ्री में मिलेगा। यह ऑफर जयपुर के सभी पेट्रोल पंप पर लागू है। इसके लिए कंपनी की तरफ से कुछ नियम और शर्तें लागू की गई हैं। पेटीएम के ऑफर के तहत आपको पेट्रोल और डीजल शाम 6 बजे से रात 9 बजे के बीच खरीदना होगा। तेल के पैसों का भुगतान करने के लिए आपको संबंधित पेट्रोल पंप पर रखे क्यूआर कोड को स्कैन करके करना होगा। कैशबैक की अधिकतम राशि 100 रुपए होगी। मतलब आप 100 रुपए का पेट्रोल या डीजल खरीदेंगे तो इस पर आपको 100 फीसदी कैशबैक कंपनी की तरफ से दिया जाएगा। यदि आप इससे ज्यादा का तेल भरवाएंगे तब भी आपको 100 रुपए का ही कैशबैक कंपनी की तरफ से दिया जाएगा। पेटीएम के अनुसार इस सुविधा का ग्राहक एक बार ही उपयोग कर सकता है। कैशबैक तुरंत भी आ सकता है और अगले 48 घंटे में भी वॉलेट में वापस आ सकता है। यह ऑफर डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए दिया गया है। इस ऑफर नए यूजर्स के लिए है। मतलब अगर आपने पहले पेट्रोल डीजल खरीद लिया है तो आप इस ऑफर का फायदा नहीं उठा पाएंगे। !!

ATM फ्रॉड से बचाव : ऐसे पता करें ATM में आपके कार्ड की क्‍लोन करने वाली मशीन तो नहीं लगी !!

आप शॉपिंग करने जाते हैं और जब कर शॉपिंग करते हैं। फिर जब बिल पे करने का समय आता है तो आप अपना एटीएम कार्ड निकाल कर देते हैं पर तभी आप को पता चलता है कि आप का खाता तो पूरी तरह से खाली हो चुका है। आप दिमाग पर जोर डालते हैं तो आप को ध्‍यान आता है कि आप ने घर के पास वाले एटीएम से दो दिन पहले कुछ रुपये निकाले थे। जनाब 21 सदी में एटीएम मशीन में कार्ड क्‍लोनिंग की मशीन लगा कर धोखाधड़ी करने के सबसे ज्‍यादा मामले आये हैं।

मशीन पर लगा होता है स्‍कैनर
अक्‍सर आप एटीएम से पैसे निकालने जाते होंगे। आपके सामने नजर आ रही सामान्य सी दिखने वाली एटीएम मशीन धोखाधड़ी के उपकरणों से लैस हो सकती है। एटीम मशीन में कार्ड एंटर करने वाली जगह पर धोखेबाज एक पोर्टेबल स्कैनर फिक्स कर देते हैं। यह स्कैनर एटीएम मशीन के जैसा ही होता है इसलिए पता ही नहीं चलता कि कार्ड एंटर करने वाली जगह पर कोई स्कैनर लगा है। इसलिए ध्यान रखें कि कार्ड एंटर वाली जगह पर अगर लाइट जल रही है तो सब ठीक है लेकिन अगर बंद है तो मामला गड़बड़ है क्योंकि स्कैनर में लगी एलइडी लाइट हमेशा बंद रहती है।

ऐसे पता होता है एटीएम पिन
जब आप कार्ड एंटर करते हैं तो आपके एटीएम कार्ड को मशीन में पहले से लगा स्कैनर स्कैन कर लेता है यानि वह इमेज उस अडिशनल ट्रैपिंग डिवाइस में सेव हो जाती है, जिसका इस्तेमाल बाद में आपका पैसा निकालने के लिए किया जाता है। मशीन में कार्ड डालने के बाद आपके एटीएम पिन का पता लगाने की बारी आती है और इसके लिए धोखेबाज एटीएम मशीन के कीबोर्ड के एकदम ऊपर एक कैमरा फिट कर देते हैं जो बैटरी से संचालित होता है, आपने शायद कभी गौर भी नहीं किया होगा और पैसा निकालते समय आपको लगता होगा कि आप अकेले हैं। लेकिन धोखेबाजों द्वारा फिट किया कैमरा आपके एटीएम पिन की तस्वीर कैप्चर कर लेता है।

एटीएम में लगे होते हैं खुफिया कैमरे
इस ट्रिक से धोखेबाजों के पास आपका एटीएम कार्ड नंबर और पिन समेत सारा डाटा पहुंच जाता है और वह जब चाहें आपके अकाउंट से पैसा निकाल कर आपको लाखों और करोड़ो का चूना आसानी से लगा सकते हैं। एटीएम कार्ड क्लोनिंग करने वाले एटीएम के सेंटर में खुफिया कैमरा, मोबाइल या वेबकैम लगाते हैं। ग्राहक द्वारा पैसा निकालने के दौरान पिन कोड टाइप करने की रिकार्डिंग कर ली जाती है। उसके बाद पैसा निकाल लिया जाता है। कुछ मामलों में यह पाया गया है कि ऐसे गिरोह एटीएम मशीन सेंटर की छत और दीवार पर एक खुफिया कैमरा लगाते हैं। !!

सरदार पटेल की 142वीं जयंती पर PM Modi ने दिखाई हरी झंडी !!

भारत के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती (31 अक्टूबर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नई दिल्ली में रन ऑफ यूनिटी (एकता के लिए दौड़) को हरी झंडी दिखायी। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, हम सरदार पटेल को उनकी जयंती पर नमन करते हैं। उनके अप्रतिम सेवा और योगदान को भारत कभी नहीं भूलेगा।” नई दिल्ली के मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि 31 अक्टूबर को पूरा देश “राष्ट्रीय एकता दिवस” मनाता है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शपथ दिलायी, “मैं सत्यनिष्ठा से शपथ लेता हूं कि मैं राष्ट्रीय एकता, अखण्डता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्वयं को समर्पित करूंगा। और अपने देशवासियों के बीच यह संदेश फैलाने के लिए निरंतर प्रयास करूंगा। मैं यह शपथ अपने देश की एकता की भावना से ले रहा हूं। इसमें सरदार भाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्य संभव बनाया जाएगा। मैं अपने देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने का भी सत्यनिष्ठा से संकल्प करता हूं।” कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सत्ता में बैठे लोगों ने सरदार पटेल की योगदान को भुलाने की कोशिश की। पीएम मोदी ने कहा कि देश को आजादी मिलने से पहले और उसके बाद सरदार पटेल के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। मोदी ने कहा कि देश के पहले राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद ने सरदार पटेल को भुलाने के प्रति आगाह किया था और आज उनकी आत्मा जहां भी होगी प्रसन्न होगी। सरदार पटेल देश के पहले उप प्रधानमंत्री और गृह मंत्री थे। आजादी के बाद दो सौ से ज्यादा रियासतों के भारत में विलय का श्रेय सरदार पटेल को दिया जाता है। हालांकि आजादी के कुछ ही साल बाद 15 दिसंबर 1950 को उनका निधन हो गया। 1991 में सरदार पटेल को मरणोपरांत भारत रत्न दिया गया। !!

UPSC मेन्स परीक्षा में नकल करता पकड़ा गया IPS अफसर, !!

भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के एक अधिकारी को संघ लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा (यूपीएससी मेन्स) में ब्लूटूथ उपकरण के साथ नकल करने के लिए गिरफ्तार किया गया है। यह अधिकारी भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में प्रवेश का अभ्यार्थी है।पुलिस के एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि सफीर करीम मौजूदा समय में तिरुनेलवेली जिले के सहायक पुलिस अधीक्षक हैं। उन्हें प्रश्नों के उत्तर के लिए हैदराबाद स्थित अपनी पत्नी से बात करते हुए पकड़ लिया गया। वह ब्लूटूथ के जरिए नकल कर रहा था। ब्लूटूथ के जरिए वह अपनी पत्नी से कनेक्ट्ड था, जो उसे सवालों के जवाब बता रही थी। अधिकारी ने कहा कि परीक्षा में नकल करते पकड़े जाने का करीम के करियर पर एक गंभीर प्रभाव होगा। 2014 बैच के आईपीएस अफसर सफीर करीम केरल के कोच्चि के रहने वाले हैं। वे इन दिनों तमिलनाडु के तिरुनेवेली जिले के नागजुनेरी में एएसपी के पद पर तैनात है। नकल के दौरान यूपीएससी के इन्विजिलेटर (परीक्षा निरीक्षक) ने उन्हें नकल करते देख लिया।  आईपीएस बनने से पहले सफीर करीम ने अपना बैचलर्स इंजीनियरिंग में किया है। तीसरी बार यूपीएससी एग्जाम देने पर उन्हें यह सफलता मिली थी। लेकिन करीब आपीएस से संतुष्ट नहीं थे। वह आईएएस बनना चाहते थे। इसके लिए वह यूपीएससी परीक्षा फिर से दे रहे थे ताकि वह उच्च रैंक हासिल कर आईएएस बन सकें। करीम पर चीटिंग के लिए आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है। !!

पाकिस्तान में दुल्हन की घिनौनी हरकत दूध में मिलाया जहर, ससुराल के 13 लोगों की मौत !!

भारत के पडोसी मुल्क पाकिस्तान में जबरन शादी कराने का बदला लेने के लिए दुल्हन द्वारा दूध में जहर मिलाकर पति की हत्या की साजिश रचने का मामला सामने आया है. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की महिला ने कथित तौर पर अपने पति को मारने के मकसद से दूध में जहर मिला दिया, पति ने वह दूध नहीं पिया. मगर उससे बनी लस्सी को पीकर महिला के ससुराल के 13 लोगों की मौत हो गई और 14 लोग अब भी अस्पताल में हैं. ख़बरों के अनुसार महिला जबरन शादी से खफा थी. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आसिया के परिजनों ने उसकी मर्जी के खिलाफ अमजद से निकाह कराया था. वह अमजद से शादी नहीं करना चाहती थी मगर फिर भी उसके परिजनों ने जबरन उसकी शादी करा दी. ऐसा बताया जा रहा है कि आसिया दूध में जहर मिलकर केवल अपने पति को मारना चाहती थी मगर किसी वजह से अमजद ने वह दूध नहीं पिया. परिवार के सदस्यों ने बाद में लस्सी बनाने के लिए इस दूध का इस्तेमाल किया जिसे पीकर 28 लोगों की हालत बिगड़ी. इनमें से 13 लोगों की मौत हो गई और 14 लोग अभी भी अस्पताल में हैं. जिनमे से कई जिदगी और मौत की लड़ाई से जूझ रहे हैं. बहरहाल, पुलिस ने महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आगे की जांच में जुटी है. पुलिस को इस मामले में महिला के प्रेमी के हाथ होने का भी शक है. !!

सुप्रीम कोर्ट में 35A पर टली सुनवाई, केंद्र सरकार ने मांगी 8 हफ्ते की मोहलत !!

जम्मू कश्मीर को प्राप्त विशेषाधिकार अनुच्छेद 35ए पर सुप्रीम कोर्ट में तीन जजों की विशेष बेंच ने सोमवार को सुनवाई की. इस दौरान केंद्र सरकार की तरफ से पेश अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने हलफनामा देकर नोटिस पर जवाब देने के लिए आठ हफ्ते का वक्त मांगा है. जिसके बाद कोर्ट ने मामले की सुनवाई टाल दी है. अटॉर्नी जनरल ने नोटिस का जवाब देने की मोहलत मांगते हुए कश्मीर समस्या के लिए नियुक्त मध्यस्थ की तैनाती का हवाला दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि वो इस मामले से जुड़े तमाम पक्षकारों से बात कर रहे हैं. इस पीठ में प्रधान न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा के अलावा जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस अजय माणिकराव खानविलकर शामिल हैं.

क्या है अनुच्छेद 35ए

दरअसल अनुच्छेद 35ए भारतीय संविधान में एक ‘प्रेंसीडेशियल आर्डर’ के जरिये 1954 में जोड़ा गया था. यह राज्य विधानमंडल को कानून बनाने की कुछ विशेष शक्तियां देता है. इसमें वहां की विधानसभा को स्थायी निवासियों की परिभाषा तय करने का अधिकार मिलता है, जिससे अन्य राज्यों के लोगों को कश्मीर में जमीन खरीदने, सरकारी नौकरी करने या विधानसभा चुनाव में वोट करने पर रोक है. इस कानून के खिलाफ दिल्ली स्थित एनजीओ ‘वी द सिटीजन’ ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर इसे खत्म करने की अपील की थी. इस याचिका में कहा गया कि अनुच्छेद 35ए के कारण संविधान प्रदत्त नागरिकों के मूल अधिकार जम्मू-कश्मीर में छीन लिए गए हैं, लिहाजा राष्ट्रपति के आदेश से लागू इस धारा को केंद्र सरकार फौरन रद्द करे.

समानता के अधिकार का हनन

याचिककर्ता ने इसे संविधान के अनुच्छेद 14 यानी समानता के अधिकार का हनन बताया. ऐसा इसलिए क्योंकि 35A के तहत गैर कश्मीरी से शादी करने वाले कश्मीरी पुरुष के बच्चों को स्थायी नागरिक का दर्जा और तमाम अधिकार मिलते हैं, लेकिन राज्य के बाहर रहने वाले यानी गैर कश्मीरी पुरुष शादी करने वाली महिलाओं पर संपत्ति में हिस्सा न देने की पाबंदी लगाई गई है. इस मामले पर 17 जुलाई को हुई सुनवाई में अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने तत्कालीन प्रधान न्यायाधीश जेएस खेहर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की बेंच को बताया कि इस याचिका ने संवैधानिक मुद्दा उठाया है, जिस पर कोर्ट ने इस तीन जजों की बेंच के पास भेज कर मामले के हल के छह हफ्तों का समय निर्धारित किया था. तब कोर्ट ने कहा था कि बेंच अनुच्छेद 35ए और अनुच्छेद 370 की सैंविधानिकता की जांच करेगी और इसके तहत मिलने वाला स्पेशल स्टेटस का दर्जा का भी रिव्यू होगा. वहीं जम्मू-कश्मीर सरकार ने कोर्ट में कहा है कि 2002 में इस मुद्दे पर हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया था, जिससे यह मामला सेटल हो गया था.

अलगाववादियों ने दी जन आंदोलन की चेतावनी

इस मामले की सुनवाई शुरू होने से पहले राज्य में हालात तनावपूर्ण होते दिख रहे हैं, जहां तीन अलगाववादी नेताओं सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और मोहम्मद यासिन मलिक ने एक संयुक्त बयान जारी कर लोगों से अनुरोध किया कि अगर सुप्रीम कोर्ट राज्य के लोगों के हितों और आकांक्षा के खिलाफ कोई फैसला देता है, तो वे लोग एक जनआंदोलन शुरू करें .अलगाववादी नेताओं ने कहा कि राज्य सूची के कानून से छेड़छाड़ का कोई कदम फलस्तीन जैसी स्थिति पैदा करेगा. उन्होंने दावा किया कि मुस्लिम बहुल राज्य की जनसांख्यिकी को बदलने के लिए एक साजिश रची जा रही है. अनुच्छेद 35 ए में संशोधन की किसी कोशिश के खिलाफ राज्य के हर तबके के लोग सड़कों पर उतरेंगे. अलगाववादी नेताओं ने कहा, ‘हम घटनाक्रमों को देख रहे हैं और जल्द ही कार्रवाई की रूपरेखा और कार्यक्रम की घोषणा की जाएगी.’ इन नेताओं ने आरोप लगाया कि बीजेपी राज्य में जनमत संग्रह की प्रक्रिया को नाकाम करने की कोशिश कर रही है। साथ ही पीडीपी को आरएसएस का सहयोगी बताया. !!

आईसीसी रैंकिंग में कोहली ने सचिन को पछाड़ा, बने दुनिया के नंबर 1 बल्लेबाज !!

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली आईसीसी वनडे रैंकिंग में करियर के सर्वश्रेष्ठ रेटिंग अंकों के साथ आज एक बार फिर शीर्ष पर पहुंच गए। इस दौरान वह रेटिंग अंकों के मामले में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर को पछाड़ सबसे ज्यादा अंक हासिल करने वाले भारतीय हो गए हैं। कोहली नंबर 1 रैंकिंग साउथ अफ्रीका के एबी डिविलियर्स से गंवाने के 10 दिनों के बाद एक बार फिर शीर्ष पर काबिज हो गए। दिल्ली के इस 28 वर्षीय बल्लेबाज ने न्यू जीलैंड के खिलाफ कल खत्म हुए 3 मैचों की वनडे सीरीज में बनाए 263 रन के दम पर 889 रेटिंग अंकों तक पहुंच गए, जो किसी भी भारतीय बल्लेबाज के लिये सर्वाधिक है। इस सीरीज को भारत 2-1 से अपने नाम किया। आईसीसी के बयान में कहा गया, इससे पहले 1998 में सचिन तेंडुलकर और इस साल विराट कोहली 887 अंको के साथ सबसे अधिक रेटिंग अंक वाले भारतीय बल्लेबाज थे। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने सीरीज में 174 रन बनाने के साथ करियर के सर्वश्रेष्ठ 799 अंको तक पहुंचे, हालांकि उनकी रैंकिंग में कोई सुधार नहीं हुआ और वह 7वें स्थान पर बने हुए है। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ताजा रैंकिंग में एक स्थान के सुधार के साथ 11वें स्थान पर आ गए। गेंदबाजों में पाकिस्तान के हसन अली पहले पायदान पर बने हुए हैं, जबकि न्यू जीलैंड सीरीज में छह विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह रैंकिंग में करियर के सर्वश्रेष्ठ तीसरे स्थान पर पहुंच गए। सीरीज में 2-1 की जीत भारतीय टीम को रैंकिंग में नंबर एक बनाने के लिए काफी नहीं था। भारत से 2 अंको की बढ़त के साथ साउथ अफ्रीका (121 अंकों) शीर्ष पर बना हुआ है !!

यूपी पुलिस पर लगा है गर्भवती महिला की हत्या का आरोप !!

बाराबंकी: यूपी पुलिस पर लगा है गर्भवती महिला की हत्या का आरोप मामला बाराबंकी का है जहां पुलिस अवैध शराब बनाने वालों की धरपकड़ के लिए पहुंची थी. पीड़ित परिवार इंसाफ मांग रहा है वहीं आला अधिकारी कुछ भी कहने से बचते नज़र आ रहे हैं. असंद्र थाने के मानपुर मकोहिया गांव में पुलिस अवैध शराब बनाने वालों को पकड़ने पहुंची थी. दबिश से घबरा कर पुरुष भाग गए लेकिन गर्भवती महिला रुचि भाग ना सकी. आरोप है कि पुलिस ने रुचि की बेरहमी से पिटाई की. लोगों ने बताया,”पुलिस ने समझा कि उसने पेट से शराब बांध रखी है और वे उसके पेट पर लात मारते रहे. वो चीखती चिल्लाती रही, अपनी जान की भीख मांगती रही लेकिन पुलिस ने उसकी कोई बात नहीं सुनी और अंत में वह मर गई.” रामसनेहीघाट सर्किल के सीओ सुशील कुमार सिंह और एसडीएम राहुल यादव इस पूरे प्रकरण में पुलिसकर्मियों की गलती मानने को तैयार नहीं हैं. पुलिस अधिकारियों ने तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई करने की बात कही है. !!

नई लैंड रोवर डिस्कवरी लॉन्च, कीमत 68.05 लाख रूपए !!नई लैंड रोवर डिस्कवरी लॉन्च, कीमत 68.05 लाख रूपए !!

लैंड रोवर ने पांचवी जनरेशन की डिस्कवरी एसयूवी को भारत में लॉन्च कर दिया है, इसकी कीमत 68.05 लाख रूपए से शुरू होती है जो 1.02 करोड़ रूपए (एक्स-शोरूम) तक जाती है। इसका मुकाबला ऑडी क्यू7, मर्सिडीज़ जीएलई, वोल्वो एक्ससी90 और बीएमडब्ल्यू एक्स5 से होगा।

वेरिएंट और कीमत

 

पेट्रोल                                                        डीज़ल
एस 68.05 लाख रूपए                             78.37 लाख रूपए
एसई 71.51 लाख रूपए                           85.30 लाख रूपए
एचएसई 74.23 लाख रूपए                      89.54 लाख रूपए
एचएसई लग्ज़री 78.37 लाख रूपए         97.47 लाख रूपए
फर्स्ट एडिशन 84.43 लाख रूपए             1.02 करोड़ रूपए

नई लैंड रोवर डिस्कवरी 5-सीटर और 7-सीटर लेआउट में उपलब्ध है। इस में एलईडी हैडलैंप्स के साथ हाई-बीम असिस्ट, 14-स्पीकर्स वाला 825 वॉट का मेरिडियन साउंड सिस्टम, हैड्स-अप डिस्प्ले, 8.0 इंच रियर सीट एंटरटेंमेंट और फोर-जोन क्लाइमेट कंट्रोल समेत कई काम के फीचर दिए गए हैं। नई लैंड रोवर डिस्कवरी पेट्रोल और डीज़ल दोनों इंजनों में उपलब्ध है। पेट्रोल वेरिएंट में 3.0 लीटर का इंजन लगा है, जो 340 पीएस की पावर और 450 एनएम का टॉर्क देता है। डीज़ल वेरिएंट में भी 3.0 लीटर का इंजन लगा है, इसकी पावर 258 पीएस और टॉर्क 600 एनएम है। दोनों इंजन 8-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स से जुड़े हैं। !!