7 बिसवा जमीन के लिए बेटे ने माँ की गला दबाकर की हत्या

टीएनए रिपोर्टर लखनऊराजधानी के निगोहा थाना क्षेत्र में के कलयुगी बेटे का चेहरा सामने आया है जहां एक छोटे से जमीन के टुकड़े के लिए बेटे ने अपनी माँ की  की गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या की वारदात से घर में सनसनी फैल गई। घरवालों की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के रामपुर गढ़ी जमुनी गांव में 50 वर्षीय नन्हकी देवी अपने परिवार के साथ रहती हैं। ग्रामीणों ने पुलिस को बताया उनका 22 वर्षीय बेटा नीरज रावत नशेड़ी है। उसने अपने हिस्से की जमीन बेंचकर अय्यासी और नशे में उड़ा दी। पिछले कई दिनों से वह अपनी बुजुर्ग मां पर करीब जो सात आठ बिसवा जमीन बची थी उसे बेचने का दबाव बना रहा था। इस बात का उसकी मां विरोध कर रही थी इसके चलते वह उन्हें कई बार पीट भी चुका था।शनिवार की रात नीरज नशे में धुत होकर घर पहुंचा और फिर से जमीन बेचने के लिए दबाव बनाने लगा। इसका जब महिला ने विरोध किया तो आरोपी ने अपनी मां का गला दबाकर उन्हें मौत के घाट उतार दिया। रविवार जब पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी तो पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी घर से भाग गया जिसकी तलाश में पुलिस जुटी हुई है।

 

एंटी भू -माफिया सेल को ठेंगा दिखते हुये दबंग कर रहे दलित के जमीन पर कब्जा

टीएनए रिपोर्टर लखनऊ- उत्तर प्रदेश के कमान संभालते ही योगी सरकार ने प्रदेश मे हो रहे भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए तरह तरह के सेल का गठन किया । इसी क्रम मे प्रदेश सरकार मे गरीबों की जमीन पर कब्ज़ा करने वाले भू-माफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए एंटी भू-माफिया सेल का गठन किया गया । परंतु दबे कुचले लोगों की जमीन पर अवैध कब्जे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अभी ताजा मामला चिनहट थानाक्षेत्र मे देखने को मिला जहां कुछ दबंग  जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ मिलकर एक दलित के  जमीन पर जबरन कब्ज़ा करवा रहे हैं। विरोध करने पर दबंग भू-माफिया दलित गरीब को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। आरोप है कि कई बार इसकी लिखित शिकायत भी की जा चुकी है लेकिन मौके पर लेखपाल सहित कई जिला प्रशासन के अधिकारी खुद जाकर भूमाफियाओं के दबाव में अवैध निर्माण करवा रहे हैं। पीड़ित ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों और सीएम योगी से न्याय की गुहार लगाई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार चिनहट के भरवारा गांव निवासी धनीराम ने बताया की भूमि खसरा संख्या-878स उसकी पैतृक भूमि है। यह भूमि लेखपाल से त्रुटिवश सीलिंग में दर्ज हो गई थी। इसका मुकदमा भी उच्च न्यायालय में चल रह है। इसमें राज्य सरकार द्वारा पूरक शपथ पत्र में कहा गया है कि उक्त भूमि का कब्ज़ा कभी नहीं लिया गया। इस पर मेरे विभाग को कोई आपत्ति नहीं है। पीड़ित का कहना है कि मेरी इस जमीन पर रवि श्रीवास्तव, चंदन जयसवाल, उत्तम सिंह, सलीम अहमद, दिनेश शर्मा, बिसेस्वर सिंह, हिस्ट्रीशीटर दिलीप सिंह वाफला और प्रवीण सिंह का खसरा संख्या-877 के क्रय की रजिस्ट्री दिखाकर जबरन निर्माण करवा रहे हैं। पीड़ित का कहना है कि पिछली 21 जून 2017 को उसके पोते राहुल (30) की दबंगों ने हत्या कर दी थी। लेकिन दबंगों से मिली हुई पुलिस ने इसे हादसे का रूप से दिया था। वहीं इस मामले में खास बात यह है कि पूरा मामला रजिस्ट्रार और कानूनगो की जानकारी में है लेकिन पीड़ित की मदद करने के बजाय सभी दलित की जमीन पर कब्ज़ा करवा रहे हैं।

पीड़ित ने बताया कि जब उसने निर्माण का विरोध किया तो दबंगों ने उसे जाति सूचक गंदी-गंदी गलियां दीं। इसकी शिकायत जब पीड़ित ने पुलिस से की तो पुलिस भी दबंगों से साथ हो ली। आरोप है कि दबंगों ने मोटी रकम पुलिस को दे दी इसके चलते स्थानीय थाने की पुलिस कोई सुनवाई नहीं कर रही है। पीड़ित का आरोप है कि अब दबंग उसे जमीन छोड़ने के लिए दबाव बना रहे हैं। साथ ही जमीन ना छोड़ने पर पूरे परिवार की हत्या करने की धमकी दे रहे हैं। इससे पीड़ित का पूरा परिवार सहमा हुआ है।

पीड़ित ने बताया कि लेखपाल और कानूनगो मौके पर आये थे। उन्होंने भी कहा कि यह निर्माण गलत हो रहा है। उन्होंने काम रुकवाने के निर्देश दिए लेकिन उनके जाने के बाद निर्माण फिर से पुलिस ने जिला प्रशासन के अधिकारियों से मिलकर शुरू करवा दिया। पीड़ित ने बताया कि उसके परिवार की जान को दबंगों से खतरा है। अगर उन्हें कुछ होता है तो इसके जिम्मेदार उक्त दबंग ही होंगे। पीड़ित ने योगी सरकार और पुलिस के मुखिया डीजीपी सुलखान सिंह से सुरक्षा प्रदान करने की गुहार लगाई है।

कमरे मे लटकता मिला पूर्व सांसद के पोते व बहू का शव

टीएनए रिपोर्टर लखनऊ– राजधानी के गोमती नगर थाना क्षेत्र में जौनपुर जिले के रहने वाले एक पूर्व सांसद के पोते और बहू का शव संदिग्ध परिस्तिथियों में फांसी के फंदे पर लटके मिलने से सनसनी फैल गयी । सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। फिलहाल पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस आत्महत्या के कारणों के बारे में पड़ताल कर रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जौनपुर जिले के रहने वाले राहुल सिंह (30) और उनकी पत्नी शिवानी सिंह (34) अपने गांव में ही रहते हैं। जानकारी में पता चला कि वह कभी-कभी विनय खंड लखनऊ स्थित घर में आकर रुकते थे। रविवार पुलिस को सूचना मिली कि पति-पत्नी ने फांसी लगा ली है। सूचना पाकर वह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे तो दोनों के शव कमरे में लटकते मिले। दोनों ने दुपट्टे के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। फिलहाल पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। उनके दादा कमलापति जौनपुर से कांग्रेस के पूर्व सांसद बताये जा रहे हैं। पुलिस ने दोनों के परिवार वालों को सूचना देकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। फिलहाल पुलिस आत्महत्या के कारणों के बारे में पता लगा रही है।

युवक की लाठी डंडो से पीटकर हत्या

टीएनए रिपोर्टर लखनऊ– राजधानी मे बखौफ़ बदमाशों ने एक युवक को लाठी डंडो से पीट पीट कर ह्त्या कर दिया । स्थानीय लोग इसे वर्चस्व की जंग मान रहे है , बताया जाता है की पुलिस की सरपरस्ती की वजह से इस क्षेत्र मे अक्सर मारपीट के मामले होते रहते है । एक दूसरे पर अपना वर्चस्व कायम करने के लिए कुछ अराजक तत्व क्षेत्र मे आतंक बरपाते रहते है । रविवार को हुये इस हादसे मे एक युवक को तकरीबन आधा दर्जन बदमशों मे पीट पीट कर हत्या कर दिया । इस बड़े मामले मे पुलिस सीमा विवाद मे उलझी रही ।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मूलरूप से जनपद सीतापुर निवासी शुभम मिश्रा (22) कृष्णलोक फैजुल्लागंज में अंकित पांडेय के मकान में माँ और दो भाइयों के साथ रहता था। बताया जाता है की पास के ही शिवलोक कॉलोनी मे शुभम से उसके कुछ साथियों से आपस मे बवाल हुआ । इसके बाद शुभम अपने स्प्लेंडर बाइक से अलीगंज थानाक्षेत्र के बंधा रोड पर जा रहा था। शुभम कृष्णलोक मोड़ के पास पहुंचा ही था कि लाठी डंडों से लैस 6 से 7 दबंगो ने रोककर पीटने लगे । हमले मे शुभम ने डैम तोड़ दिया । 
सीमा विवाद मे लड़ती रही पुलिस
पुलिस के ऊपर आरोप है की सूचना के आधे घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची तब तक हलवार फरार हो चुके थे व शुभम दम तोड़ चुका था । साथ ही मौके पर मड़ियाव थाना , अलीगंज थाना व हसनगंज थाना की पुलिस सीमा विवाद मे लड़ती रही । ऐसे मामले मे पुलिस का ऐसे लड़ना निंदनीय रहा ।

रेलवे लाइन पर मिला महिला का शव

टीएनए रिपोर्टर लखनऊराजधानी के गोसाईंगंज थानाक्षेत्र के कबीरपुर गांव के पास शनिवार सुबह रेलवे ट्रैक पर महिला का शव मिला। हाथ पर गुदे नाम के आधार पर उसकी शिना त निजामपुर निवासी कमलेश की पत्नी निठाना (38) के रूप हुई। सूचना पाकर मौके पहुंची पुलिस ने बताया कि पिछले एक माह से कमलेश अपनी पत्नी और तीन बच्चे शीला 12, अखिलेश 8 और हरिकेश 6 के साथ कबीरपुर गांव में एक मकान में किराए पर रह रहे थे। मृतका के पति कमलेश ने पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी शनिवार को तड़के रेलवे लाइन किनारे शौच के लिए गई थी। जहाँ ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। जानकारी के मुताविक पीडि़त का गांव में किसी से झगडा हो जाने के कारण वह अपना घर छोडकर कबीरपुर गांव में रह कर मजदूरी करके अपना परिवार चला रहा था।

नदी मे उतराता मिला युवक का शव , हत्या की आशंका

टीएनए रिपोर्टर लखनऊराजधानी के गोसाईगंज थानाक्षेत्र के घुसकर गांव के पास गोमती नदी के पुल के नीचे शनिवार की सुबह हत्या कर फेके गये युवक का शव मिलने से हड़क प मच गया। मृतक के शरीर व चेहरे पर चोट के निशान दिखे। सूचना पाकर मौके पर पहुंची गोसाईगंज पुलिस ने शव को बाहर निकाल कर शिना त करने का प्रयास किया थानाध्यक्ष गोसाईगंज बलवंत शाही के कथक प्रयास के बाद शव की शिना त बाराबंकी जिले जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र के बडौल निवासी जियो क पनी के कर्मचारी सत्यप्रकाश वर्मा के रूप में हुई।
थानाध्यक्ष गोसाईगंज ने बताया कि गोसाईंगंज के घुसकर गांव के पुल के पास गोमती नदी किनारे 36 वर्षीय युवक का शव मिला। जो नीली जीन्स, सैंडो बनियान, नारंगी व नीली लाइन दार टीशर्ट, हाथ में घड़ी तथा गले में लाकेट पहने हुए था। उसके चेहरे पर नाक व मुँह से खून बहा था। जबकि उसके सीने पर चोट के निशान थे। कपडो कि निशान देही के बाद शव के शिना त बाराबंकी निवासी सत्यप्रकाश वर्मा के रूप में हुई। मुतक के पिता चन्द्रशेखर ने मर्चरी पहुंचकर शव की शिना त की। आस पास जानवर चराने वाले ग्रमीणों का कहना था कि इसकी हत्या करने के बाद शव को रात में कही से लाकर यहाँ फेंका गया होगा।
बाक्स- बाराबंकी पुलिस ने नहीं दर्ज की रिपोर्ट
शव की शिना त करने आये मृतक के पिता चन्द्रशेखर ने बाताया कि उसका बेटा रिलायंस जिओं क पनी में काम करता था। वह बीते गुरूवार से गायब था। काफी खोजबीन के बाद इसकी सूचना बाराबंकी सदर कोतवाली को दी लेकिन वहां पर कोई मुकदमा नहीें लिखा गया। पीडि़त का आरोप है कि पुलिस मुकदमा न लिखकर खुद ही ढूढने की बात कहती रही। मृतक के पिता ने बेटे की मौत पर हत्या की आशंका जताई है।

कार के ऊपर पलटा लोडेड ट्रक

टीएनए रिपोर्टर लखनऊ– राजधानी के माड़ियांव थानाक्षेत्रमें शनिवार दोपहर को एक लोडेड ट्रक का टायर फट जाने से वह ई रिक्शा से टकराते हुए कार पर पलट गया। गनीमत रही कि इस भीषण हादसे में किसी की मौत नहीं हुई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने राहगीरों की मदद से करीब ढ़ाई घंटे तक कार में फंसे डॉक्टरों को जेसीबी से मलबा हटवाकर बाहर निकाला और अस्पताल में भर्ती कराया। यहां दोनों घायलों का इलाज जारी है। इंस्पेक्टर माड़ियांव राघवन सिंह ने बताया कि यह ट्रक कमालगंज की मनोज एंड संस फर्म से 255 कुंतल मक्का लादकर बीकेटी के रामेश्वरदास के गोदाम पर ले जाया जा रहा था। ट्रक चालक परवेज व उसका साथी क्लीनर मौके से फरार है जिनका पता लगाया जा रहा है।

आईआईएम रोड पर हुआ हादसा

जानकारी के मुताबिक, दुबग्गा की तरफ से आ रहे ट्रक (यूपी 78 बीएन 7531) का आईआईएम चौराहे के पास अचानक टायर ब्लास्ट हो गया। टायर ब्लास्ट होते ही ट्रक अनियंत्रित हुआ और चौराहे पर खड़े ई रिक्शा से जा टकराया। ई रिक्शा को जोरदार टक्कर मारने के बाद ट्रक चौराहे पर खड़ी वर्ना कार (यूपी 32 एफटी 3441) पर पलट गया। कार में बैठे डॉ. इस्लाम कार समेत ट्रक के नीचे दब गए। हादसा होते ही घटनास्थल पर लोगों का मजमा लग गया। करीब ढ़ाई की मशक्कत के बाद डॉ. इस्लाम को ट्रक के नीचे से निकाला जा सका और उन्हें नजदीकी अस्पताल पहुंचाया गया। जहाँ उनका इलाज जारी है। एल्डिको आपर्टमेंट निवासी डॉ. इस्लाम की पत्नी रूबी इस्लाम ने बताया कि उनके पति इस्लाम कैरियर मेडिकल कॉलेज में काम करते हैं। साथ ही अपना निजी क्लीनिक भी ठाकुरगंज में चलाते हैं। शनिवार दोपहर डेढ़ बजे वह क्लीनिक बंद करके घर आ रहे थे। आईआईएम चौराहे के पास कार रोक कर कार के अंदर से ही दुकान से पानी लेने लगे। तभी दुबग्गा की तरफ से आ रहे ट्रक का टायर फटने की जोरदार आवाज हुई। आवाज से दुकानदार बाहर आये लेकिन तब तक ट्रक एक ई रिक्शा को मारकर कार पर पलट चुका था। ई रिक्शा चालक इलियास निवासी इस्लामनगर भी बुरी तरह घायल हो गया।

 

कार के अंदर से मदद के लिए चिल्लाता रहा डॉक्टर

प्रत्येक्षदर्शियों की माने तो डॉ. इस्लाम अक्सर चौराहे पर आते हैं। लिहाजा उन्हें कई लोग पहचानते भी हैं। ट्रक जैसे ही पलटा कुछ दुकानदार दौड़कर भागे। डॉक्टर साहब की कार है चिल्लाते हुए सब ट्रक को हटाने के लिए मेहनत करने लगे। इस बीच लोगों ने बताया कि डॉक्टर इस्लाम कार के अंदर से चिल्ला रहे थे। डॉ कार समेत ट्रक के नीचे दबे थे लेकिन भगवान उनके साथ था। 255 कुंतल लोड के साथ ट्रक उनके ऊपर पलट गया लेकिन उनकी साँसे चल रही थी। वो बार-बार कार के अंदर से मुझे बचा लो, मुझे निकालो की आवाजें लगा रहे थे।

दो घण्टे बाद मिली क्रेन और ढांई घंटे बाद पहुँचे इंस्पेक्टर

घटना दोपहर डेढ़ बजे की थी। सूचना पुलिस को हुई तो डायल 100 की दो गाडियां आयी और थोड़ी देर बाद एक गाड़ी वापस चली गयी। इस बीच थाने के एक दारोगा व दो चार सिपाही मौके पर पहुंचे। लेकिन माड़ियांव थाने से ना कोई जिम्मेदार दारोगा मौके पर पहुंचा और ना ही कोतवाल। संवेदनहीनता की हद यह रही की दो घंटे तक इस्लाम ट्रक के नीचे दबे रहे और पुलिस को क्रेन बुलाने में दो घंटे लग गए। इससे बड़ी हद रही की इंस्पेक्टर माड़ियांव राघवन सिंह को मौके पर पहुंचने में ढांई घंटे लग गए।

आक्रोशित लोगों ने पुलिस को खदेड़ा

भीषण हादसा हुआ तो स्थानीय पब्लिक ने उदारता दिखाई। हादसे के बाद स्थानीय लोग किसी तरह ट्रक को हटाने की जुगत में लग गए। दर्जनों लोग हाथों से मशक्कत कर रहे थे की ट्रक हट जाए। लेकिन बेशर्म पुलिस ने संवेदनहीनता की सारी हदें पार कर दी। घटनास्थल से 200 मीटर दूर गाड़ी लगाकर डायल 100 के पुलिसकर्मी मौज मस्ती में लगे रहे। थाने के दो सिपाही व्हाट्सएप्प और कॉल पर लगे रहे। इसके अलावा थाने से आये एक दारोगा घटनास्थल पर पब्लिक के कुछ लोगों को उपदेश देते दिखाई दिए। लेकिन किसी पुलिसकर्मी ने आगे आकर मोर्चा संभालना मुनासिब नहीं समझा। पुलिस की लापरवही देखते देखते आखिर पब्लिक का गुस्सा फूट पड़ा। आक्रोशित भीड़ ने पुलिस को दौड़ा लिया और घटनास्थल से खदेड़ दिया। मुतक्कीपुर निवासी चाँद ने बताया कि जब पब्लिक को ही सब काम करना था तो पुलिस को आने की भी जरुरत नहीं थी।

 

कुकरैल नाले मे घड़ियाल उड़ा रहे थे इंसानी जिस्म का दावत

टीएनए रिपोर्टर लखनऊ – राजधानी के गुडम्बा थानाक्षेत्र स्थित कुकरैल नाले मे एक युवक का शव उतरता हुआ देखा गया ।  पानी के राक्षस के रूप मे माने जाने वाले घड़ियाल नाले मे मिले युवक के शव को नोच कर दावत उड़ा रहे थे । राहगीरों मे पुलिस को सूचना दिया , सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पानी से बाहर निकलवा कर उसकी पहचान कराई | शव की शिनाख्त गुडम्बा थानाक्षेत्र के सुभाष नगर कल्याणपुर निवासी दिनेश (31)वर्ष के रूप मे हुई | मृतक के माता पिता ने शव की शिनाख्त अपने बेटे दिनेश के रूप मे की | पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्मार्टम के लिए भेज आगे की कारवाही मे जुट गई है |

प्राप्त जानकारी के अनुसार लखनऊ के गुडम्बा थानाक्षेत्र के दिनेश (31 ) सुभाष नगर कल्याणपुर मे अपने माता पिता साथ रहता था |बताया जाता  है  की कुछ साल पहले दिनेश का एक्सिडेंट हो गया था जिसमे दिनेश के सर पर गंभीर चोटें आई थी । उस हादसे के बाद दिनेश दिमागी रूप से कमजोर हो गया था ।  बताया जाता है की बुधवार को उसके परिवार मे किसी की मृत्यु हो गई थी जिसके चलते मृतक के माता पिता सिधौली गए हुवे थे और वह घर पर अकेला था |उसी दिन वह अपनी साईकिल से कही निकला हुवा था | और जब माता पिता शाम को घर आय तो बेटा घर पर नहीं मिला | जिसके चले बेटे को इधर उधर खूब तलशने के बाद पुलिस को सूचना दी |  सूचना देने के बाद परिजनों को उसकी साईकिल पास ही के नदी के पास उसकी साईकिल मिली | साईकिल मिलने की सूचना पुलिस को दी |लेकिन आज तीन दिन बाद पिकनिक इस्पाट कुकरैल नाले के बैराज से 100 मीटर की दुरी पर युवक की उतरती हुई लाश मिली |और लाश को घटियाल नोच के खा रही थे लोगो ने इसकी सूचना पुलिस को दी | मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बहार निकलवा कर पोस्मार्टम के लिए भेज दिया है |

गुडम्बा थानाध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय ने बताया की  युवक की मौत पानी मे डूबने से हुई है | वही कुछ लोग ऐसा अनुमान लगा रहे की  सकता हो युवक नदी के किनारे गया हो और कोई घड़ियाल का निवाला बन गया हो क्यों की उसके शरीर पर कई जगह छोटे के निशान थे |

कलयुगी बेटे मे माँ समेत बहू को कुल्हाड़ी काटा

टीएनए रिपोर्टर रायबरेली– उत्तर प्रदेश के जनपद रायबरेली मे एक कलयुगी बेटे का चेहरा सामने आया है । जहां जमीन के विवाद में एक कलयुगी बेटे मे सरेआम अपनी माँ व बहू को कुल्हाड़ी से काट डाला। यह घटना यूपी के अमेठी की है यहां एक बेटे ने जमीन विवाद में हुई एक मामूली कहासुनी में अपनी माँ और बहू (भाई के बेटे की पत्नी) को कुल्हाड़ी से काट डाला। बेटे के हमले से जख्मी हुयी मॉ ने मौके पर दम तोड़ दिया। बहू की हालत को गम्भीर देखते हुए ग्रामीणों की मदद से उपचार के लिए समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जामो ले जाया जा रहा था जहाँ रास्ते में बहू की मौत हो गयी। यह वारदात जमीन विवाद से जुड़ी बताई जा रही है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

एक माँ जो अपने बच्चों को जन्म देने से लेकर उसे ममता के छाँव में रखती है। अपने सारे अरमानों को दांव पर लगाकर उसे अच्छी परवरिश देती है। कमोवेश वही कलयुगी बच्चा आज अपनी माँ और भाई के बेटे की पत्नी यानि बहू का कातिल बन बैठा। यूपी की अमेठी से शर्मसार कर देने वाली खबर सामने आई है। यहाँ एक कलयुगी बेटे ने एक व्यक्ति के साथ मिलकर अपनी जननी समेत अपनी बहू को कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। जहां मौके पर ही माँ की मौत हो गयी। वहीं बहू की हालत को गम्भीर देखते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जामो ले जाया जा रहा था उसने भी रास्ते में बहू ने भी दम तोड़ दिया। दिनदहाड़े हुयी इस वारदात से इलाके में सनसनी फैल गयी। यह घटना अमेठी के जामो थानान्तर्गत पूरे सुकाली गाँव की है।

गाँव में रहने वाले हरिकिशोर (35) उर्फ मेजर सुत नन्द किशोर और परिवारजनो के बीच जमीन विवाद था। इसी विवाद को लेकर हुई आपसी कहासुनी में हरिकिशोर अपना आपा खो बैठा। परिवार के ही एक व्यक्ति विपिन द्विवेदी के साथ मिलकर अपनी माँ दया कुमारी लगभग (65) और बीच बचाव करने आयी भाई के बेटे की पत्नी अंशू कुमारी पत्नी राम कुमार (23) पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। हमले से घायल माँ औऱ बहू दोनों खून से लथपथ होकर दोनों गिर पड़ी। दया कुमारी ने मौके पर दम तोड़ दिया जबकि अंशू की अस्पताल ले जाते समय सांसे थम गईं।

अंशू कुमारी का एक वर्ष का बेटा अभिनव भी है जिसके सिर से मां का साया उठ गया है। अपनी मॉ के लिए मासूम का रो-रोकर बुरा हाल है। मर्डर की सूचना मिलने पर जनपद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुच दोनों शवों को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने परिवार की दो महिलाओं को हिरासत में लेते हुए ह्त्या में प्रयोग की गई आलाकत्ल भी बरामद कर ली है। वही दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने के बाद नन्द किशोर और विपिन द्विवेदी मौके से फरार हो गये। जिनकी तलाश में पुलिस टीमें संभावित ठिकानों पर दबिश से रही हैं।