ब्राजील में बोले PM मोदी- आतंकवाद के खिलाफ सहयोग बढ़ाएं BRICS देश

ब्रासीलिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन (BRICS Summit) के स्वागत भाषण में आतंकवाद का मुद्दा उठाया और कहा कि इस समस्या के कारण विश्व अर्थव्यवस्था को 1,000 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है. ब्रासीलिया के ऐतिहासिक इतामराती पैलेस में ब्रिक्स पूर्ण अधिवेशन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद विकास, शांति और समृद्धि के लिये सबसे बड़ा खतरा है. इस मौके पर ब्राजील (Brazil), चीन (China), रूस (Russia) और दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के राष्ट्रपति मौजूद थे | प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘कुछ अनुमानों के अनुसार आतंकवाद के कारण विकासशील देशों की आर्थिक वृद्धि 1.5 प्रतिशत प्रभावित हुई है…इससे वैश्विक अर्थव्यवस्था 1,000 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है | ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के नेताओं के बीच 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन गुरुवार को प्रारंभ हुआ. ब्रासीलिया सम्मेलन में व्यापार, निवेश और आतंकवाद निरोधी उपायों पर चर्चा हुई. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आतंकवाद के द्वारा फैलाया भ्रम, टेरर फंडिंग, ड्रग ट्रैफिकिंग और अप्रत्यक्ष रूप से हो रहे संगठित अपराधों के चलते व्यापार और व्यवसायों का बहुत नुकसान हुआ है |पीएम मोदी ने कहा कि मुझे मित्र देश ब्राज़ील की इस सुंदर राजधानी में 11वें ब्रिक्स समिट के लिए आकर बहुत खुशी हुई. मैं भव्य स्वागत और समिट की बेहतरीन व्यवस्था के लिए मेरे मित्र राष्ट्रपति बोल्सोनारो को मैं हार्दिक धन्यवाद देता हूं |

‘इनोवेशन हमारे विकास का आधार’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस समिट की थीम- ‘इकोनॉमिक ग्रोथ फॉर एन इनोवेटिव फ्यूचर’ बहुत सटीक है. पीएम ने कहा कि इनोवेशन हमारे विकास का आधार बन चुका है. इसलिए, आवश्यक है कि हम इनोवेशन के लिए ब्रिक्स के अंतर्गत सहयोग मज़बूत करें. ब्राजील ने स्वयं इनोवेशन और व्यावहारिक सहयोग के लिए कई सफल कदम उठाए हैं. आने वाले सालों में भी ब्राज़ील द्वारा उठाए जा रहे कदमों पर हमें कार्यरत रहना चाहिए | पीएम ने कहा कि 10 वर्ष पहले, वित्तीय संकट और कई आर्थिक समस्याओं के समय, ब्रिक्स की शुरुआत हुई थी. 2009 में येका-तरिन-बर्ग से शुरू हुई यात्रा कई उल्लेखनीय पड़ाव पार कर चुकी है. इन सालों में ब्रिक्स देश वैश्विक आर्थिक वृद्धि के प्रमुख इंजन रहे हैं. और पूरी मानवता के विकास में हमारा योगदान रहा है. साथ ही, शांतिपूर्ण, समृद्ध और मल्टी पोलर विश्व के प्रमुख कारक के रूप में हम उभरे हैं |

व्यापार, निवेश पर ध्यान देने की जरूरत

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब हमें अगले दस सालों में ब्रिक्स की दिशा, आपसी सहयोग को और प्रभावी बनाने पर विचार करना होगा. उन्होंने कहा कि कई क्षेत्रों में सफलता के बावजूद कुछ क्षेत्रों में प्रयास बढ़ाने की काफी गुंजाइश है. ग्लोबल इकॉनमी की चुनौतियों का सामना करने के लिए हमें ब्रिक्स मेकेनिज़्म और प्रॉसेस को अधिक कुशल तथा परिणाम आधारित बनाना चाहिए. हमें आपसी व्यापार और निवेश पर विशेष ध्यान देने की ज़रूरत है. प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि ट्रेड प्रमोशन एजेंसीज के बीच समझौता हमारे बीच 500 बिलियन डॉलर के ट्रेड टारगेट को जल्द हासिल करने में मदद करेगा |

Leave a comment