देश में 1200 से अधिक पक्षियों की मौत, बर्ड फ्लू की चपेट में आया 7वां राज्य बना उत्तर प्रदेश

देश बड़े पैमाने पर बर्ड फ्लू के कहर से डरा हुआ, उत्तर प्रदेश शनिवार को इस बीमारी के प्रकोप की पुष्टि करने वाला सातवां राज्य बन गया। दरअसल, कानपुर चिड़ियाघर को बर्ड फ्लू वायरस मिलने के बाद सील कर दिया गया है। चार पक्षियों की मौत की जांच रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। कानपुर कमिश्नर राजशेखर के आदेश पर चिड़ियाघर के आस-पास के इलाके को रेड जोन घोषित किया गया है। प्रशासन के साथ इलाके के निवासी भी अलर्ट हो गए हैं। दोनों पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश और हरियाणा के एवियन इन्फ्लूएंजा से पीड़ित होने के कारण, दिल्ली पहले से ही वीक जोन में है। लगातार कई दिनों तक दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर मरने वाले कौवों की संख्या में वृद्धि हुई है।

क्या है बर्ड फ्लू
Bird Flu की बीमारी Avian Influenza वायरस H5N1 की वजह से होती है. ये वायरस पक्षियों से मनुष्यों तक पहुंचता है. World Health Organization के अनुसार Bird Flu का इंफेक्शन एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचना मुश्किल है. लेकिन ये वायरस जानलेवा है. इस वायरस से संक्रमित लोगों की मृत्यु दर 60 प्रतिशत है |

वाराणसी और झांसी में हो चुकी कौओं की मौत
कानपुर के अलावा पिछले दिनों में उत्तर प्रदेश के वाराणसी और झांसी में भी कौओं की मौत हो चुकी है. झांसी में जांच करने के बाद बताया गया कि कौओं की मौत बर्ड फ्लू नहीं, बल्कि कम तापमान की वजह से हुई है. वहीं, वाराणसी में मौत के कारणों की पुष्टि अभी तक नहीं हुई है |

कानपुर चिड़ियाघर को 15 दिनों के लिए बंद करने के आदेश

पशुपालन विभाग के रोग नियंत्रण निदेशक डॉ. रामपाल सिंह ने न्यूज़ 18 को बताया कि भोपाल से रिपोर्ट मिलने के साथ ही इस पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है. चिड़ियाघर के अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जिस पिंजड़े में पल रही मुर्गियों की बर्ड फ्लू से मौत हुई है, उसके 1 किलोमीटर के दायरे में आने वाली सभी पक्षियों को जल्द से जल्द बर्ड फ्लू प्रोटोकॉल के हिसाब से दफना दिया जाए | बता दें कि 4 दिन पहले कानपुर चिड़ियाघर में चार जंगली मुर्गियों और चार हीरामन तोतों की मौत हो गई थी. यह सभी पिंजरे में बंद पक्षी थे. इन्हीं में से मृत मुर्गियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है. इसके अलावा सोनभद्र, बाराबंकी, अयोध्या और झांसी में कौवे मृत पाए गए थे. इनका सैंपल जांच के लिए भोपाल भेजा गया है. इसकी रिपोर्ट आने में एक-दो दिन का समय लग सकता है | जिस तरह से राज्य दर राज्य बर्ड फ्लू अपने पैर पसार रहा है, उसे देखते हुए पहले ही यूपी सरकार ने बचाव के दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं. चिड़ियाघरों में मांसाहारी जानवरों के खाने के लिए लाई जाने वाली मुर्गियों को प्रतिबंधित कर दिया गया है. साथ ही अलग-अलग जगहों से चिड़ियों की बीट और उनके रिहायश की मिट्टी को जांच के लिए भेजा जा रहा है |बता दें कि कई राज्यों में बर्ड फ्लू ने अपने पैर पसार दिए हैं. इनमें ज्यादातर प्रवासी पक्षियों और कौवों की मौतें हुई हैं. यूपी में पोल्ट्री फार्म की मुर्गियों में बर्ड फ्लू के फैलने की अभी कोई खबर सामने नहीं आई है |

Comments (1)

Taxi moto line
128 Rue la Boétie
75008 Paris
+33 6 51 612 712  

Taxi moto paris

My coder is trying to convince me to move to .net from PHP.
I have always disliked the idea because of the expenses.
But he’s tryiong none the less. I’ve been using Movable-type on a
variety of websites for about a year and am concerned about switching to another
platform. I have heard excellent things about blogengine.net.
Is there a way I can import all my wordpress content into it?
Any kind of help would be greatly appreciated!

my page – hey

Leave a comment