दिल्ली पुलिस ने खाली कराया शाहीन बाग, 3 महीने से चल रहे CAA विरोधी प्रदर्शन के टेंट उखाड़े, जाफराबाद में भी सुरक्षा बढ़ाई, चप्पे-चप्पे पर नजर

दिल्ली में लॉकडाउन के दूसरे दिन शाहीन बाग के धरनास्थल को पुलिस ने पूरी तरह खाली करा दिया है। दक्षिण पूर्वी जिले के डीसीपी ने बताया कि मंगलवार सुबह वहां मौजूद प्रदर्शनकारियों से धरनास्थल को खाली करने की अपील की गई, लेकिन वे नहीं माने। ऐसे में उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।कोरोना वायरस महामारी की वजह से दिल्ली पुलिस ने मंगलवार सुबह शाहीन बाग में कड़ी सुरक्षा के बीच धरना स्थल को साफ करते हुए वहां से सभी टेंट हटा दिए हैं। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद राजधानी में पूरी तरह से लॉकडाउन के बीच जाफराबाद में एहतियातन भारी सुरक्षा तैनात किया गया है। पैरा मिलिट्री फोर्स और दिल्ली पुलिस के जवान शाहीन बाग और जाफराबाद में चप्पे-चप्पे पर तैनात हैं और लोगों पर नजर रखे हुए हैं।

शाहीन बाग के प्रदर्शन से जुड़े लोगों का कहना है कि हमने रात को ही कर्फ्यू की आशंका से प्रदर्शनस्थल खाली कर दिया था। सुबह 7:15 बजे के आसपास पुलिस ने आकर टेंट व अन्य चीजें हटा दीं। फिलहाल पुलिस शाहीन बाग को छावनी में तब्दील कर दिया है। सभी एहतियात कदम उठाए जा रहे हैं, जिससे कि कोई टकराव की स्थिति या हालात अनियंत्रित न हों।

 

प्रदर्शन स्थल पर पुलिस की 10 कंपनियां लगाई गई हैं। पुलिस की इस कार्रवाई से पहले धरनास्थल के आसपास की गलियों को ब्लॉक कर दिया गया था। शाहीन बाग धरनास्थल खाली कराने के बाद इस समय आसपास 500 मीटर के दायरे में बहुत बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है। लोगों को अपना रोजमर्रा का सामान लेने के लिए आने-जाने दिया जा रहा है, लेकिन प्रदर्शन स्थल की तरफ किसी को नहीं जाने दिया जा रहा है।

दिल्ली के पुलिस कमिश्नर एस.एन. श्रीवास्तव ने कर्फ्यू के दौरान लोगों से घर पर रहने की अपील की है। इस संबंध में किसी भी आंदोलन या लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं है, निषेधाज्ञा जारी की गई है। आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही कर्फ्यू से छूट दी गई है। आदेश की अवहेलना करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

Leave a comment